*सोलन*

कालका – शिमला राष्ट्रिय मार्ग पर स्थित इस स्थान सोलन का भी पर्यटन की द्रष्टि से काफी महत्व है | इस स्थान की प्रसिद्धी प्राकृतिक सोंदर्य के कारण तो है ही और थोडा यहा के न्रत्य के कारण भी | यहां साल में एक बार शुलुनी मेला लगता है | जिसको देखने के लिये भी लोग दूर दूर से आते है |

Note: If you access our website from another country. so tap on the menu and select your country language.

सलोन का एक सुंदर द्रश्य

कुछ प्रमुख नगरो से दूरी –

कालका – 41 किलोमीटर

शिमला – 48 किलोमीटर

चंडीगढ़ – 68 किलोमीटर

दिल्ली – 350 किलोमीटर

श्रीनगर – 800 किलोमीटर

सलोन की प्यारी सी सुबह

सोलन जाने का बेहतर समय

सोलन घुमने के लिये अप्रैल से जून तक का समय बेहतर  रहता है | वैसे , अक्टुबर – नवम्बर में भी सोलन जाया जा सकता है | तब यहा शिमला की तुलना में कम ठंड पड़ती है |

सोलन में देखने के लिये प्रमुख स्थल-

लघु चिड़ियाघर और पार्क –

सोलन के आसपास में ही कुछ पार्क है , जो बहुत ही सुंदर और मोहक है | जवाहर पार्क , मोहन पार्क , चिल्ड्रन पार्क आदि प्रमुख है | चिल्ड्रन पार्क में एक छोटा सा चिड़ियाघर भी है , जिसमे कई ऐसे जंगली जानवर तथा पक्षी है , जो आमतोर पर किसी दूसरे चिड़ियाघर में भी देखने को नहीं मिलते |

बड़ोग –

कालका – शिमला रेल – मार्ग में कुल 102 सुरंगे है , जिनमे से सबसे बड़ी सुरंग बड़ोग में ही स्थित है | सोलन से सिर्फ 4 किलोमीटर दूर इस स्थान का रेलवे स्टेशन भी काफी सुंदर है | चीड़ के ऊँचे – ऊँचे पेड़ से घिरा हुआ और सुखद हवा के झोंको से पूरे वातावरण को सरस बननेवाला | इसलिए इस जगह पर पिकनिक मनाने भी काफी संख्या में लोग प्रायः पहुचते रहते है |

करोल गुफा –

शहर के मात्र 5 किलोमीटर दूर यह करोल गुफा हिमालय की सर्वधिक प्राचीन और सबसे लम्बी मानी जाती है | लघभग 7000 फूट की ऊंचाई पर स्थित इस गुफा तक पहुचने के लिए अब रज्जू मार्ग से सेवा उपलब्ध है |

सुंदर वादिया

सनावर –

अंग्रजो द्वारा बसाया गया यह नगर सोलन से 21 किलोमीटर दूर स्थित है | लुभावने वातावरण वाले इस स्थान की दो चीजे प्रसिध्द है – सोर उर्जा वाला स्वमिंग पूल और 150 साल पुराना पब्लिक स्कूल | आज से 100 साल पहले युद्ध में शहीद हुए लोगो की स्मृति में यहां एक स्मारक भी है | यह सभी जगह देखने लायक है |

चैल –

इसे पूरे भारत में सिर्फ नवयुगलो के हनीमून मनाने लायक गिने चुने 4–5 स्थान में से एक माना जाता है | चैल एक छोटा सा क़स्बा है , पर यहा हर कदम पर प्राक्रतिक सोंदर्य बिखरा दिखाई पड़ता है | इस कस्बे में छोटी झीलों के किनारे नवयुगलो के लिये बेहद रोमंटिक छोटे छोटे कॉटेज बने हुए है | जिसमे रहना नवविवाहितो को बेहद ही पसंद है |

सोलन पहुचने के साधन-

सोलन पहुचने के लिये कलिका जंक्शन पर जाना होता है | कालका जंक्शन से सोलन के लिये बस और टेक्सी हर वक़्त मोजूद रहती है | दिल्ली से कलिका जंक्शन के लिये कई ट्रेन उपलब्ध है |

नोट : वर्तमान समय में अभी covid–19 के कारण कुछ ट्रेन का आगमन नहीं है | इसलिए जाने से पहले रेलवे के कर्मचारी से जानकारी जरुर लेले |

सोलन में ठहेरने के लिये होटल-

सोलन में ठहेरने लायक कई अच्छे होटल व विश्रामगृह है | जिनमे से कुछ प्रमुख होटल ठाकुर, मयूर (दोनों जिलाधिकारी कार्यालय के पास ), उत्सव (माल रोड ), आदि | चूँकि माल रोड स्टेशन से आधा किलोमीटर दूर है वहा तक पैदल भी जाया जा सकता है |

यहां भी घुमने जाये –

यात्रा को सुखद , सुंदर व यादगार बनाने के लिये कुछ बातो को घ्यान में अवश्य रखना चहिये –

  • अपने परिवार के साथ मिलकर सभी के साथ यह विचार कर ले कि यात्रा कहा जाना है ? यदि आपकी ज़ेब अनुमति दे , तो कम से कम 1000 किलोमीटर की दूरी तय करे | यदि आप ट्रेन से सफर करते है | तो इस दूरी से को पूरा करने में 14 से 18 घंटे लग जाते है | जो कि आपको अपने परिवार के साथ इस समय को बिताने का अवसर मिलता है | इन लम्हों का अनुभव व आनंद ही कुछ अलग होता है | साथ ही कुछ घर लाये हुए खाने की चीजो का स्वाद और भी अधिक बढ़ जाता है | साथ ही हर स्टेशन से कुछ न कुछ खाने की चीजे व सुबह के वक़्त स्टेशन की गर्म कुल्लड वाली चाय व पकोड़े सफर को और भी अधिक सुहाना बना देता है |
  • आपको अपनी ट्रेन का रिजर्वेशन पहले से ही करा देना है ताकि आपके पूरे परिवार का रिजर्वेशन कंफ़र्म हो जाये | जिससे आपके सफर में कोई भी बांधा न आ सके |
  • अपनी इच्छा की यात्रा का चुनाव का ध्यान रखकर पहले बजट बना ले | साथ ही अपना एटीएम कार्ड साथ रख ले व ध्यान रखे सफर के दोरान अधिक पैसे साथ न रखे |
  • यात्रा पर रवाना होने के दो दिन पहले से ही यात्रा पर साथ ले जाने वाली सभी चीजो की सूची बना ले | जैसे- एटीएम कार्ड , मोबाइल चार्जर , कपडे , खाने की चीजे | ऐसे करने से साथ ले जाने वाली चीज नहीं छूटेंगी |
  • यात्रा के दोरान हल्के और आरामदायक कपड़े ही ले जाना चहिये | वो भी आवश्यकता अनुसार, अधिक नहीं |

हम उम्मीद करते है यह सफर आपको बहुत पसंद आया होगा | यदि आप इस जगह जा चुके है या फिर जाने का प्लान कर रहे है तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में जरुर बताये |

आप भारत में किस जगह जाना चाहते है हमे कमेंट बॉक्स में बताये | उस जगह की सम्पूर्ण जानकारी हमारी टीम 48 घंटे के अंदर article के माध्यम से पुब्लिस कर देगी |

हर नये सफर के लिये , हमारे article को पढ़ते रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

Please share your friends
  • 4
    Shares

Leave a Comment

error: Content is protected !!