Aeronautical इंजीनियर कैसे बनते है ? (Aeronautical Engineer kaise bane)-

यदि आप भी एक Aeronautical Engineer बनना चाहते है | और आप Aeronautical इंजीनियरिंग में अपना करियर बनना चाहते है | तो यह आर्टिकल आपके करियर को सफल बनाने में मदद करेगा |

हर किसी को सफल होना है | पर यदि हम इस सफल होने में सबसे महत्वपूर्ण बात जो है ,वो है उस क्षेत्र की सम्पूर्ण जानकारी का होना | आप में से बहुत से लोग है जो इस एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में अपना भविष्य बनाना चाहते है |

यदि एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में सफल व्यक्ति में जो top पर नाम आता है वो है देश के 11 वे राष्ट्रपति डॉ.ऐ.पी.जे अब्दुल कलाम, जिनके कई प्रयास व सफलताओ के बाद  एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग को उचित स्थान दिलाया है |  

 एयरोनॉटिकल इंजीनियर  (Aeronautical Engineer)  कैसे बनते है ? Aeronautical Engineering in hindi, एयरोनॉटिकल इंजीनियर का काम क्या होता है ? एयरोनॉटिकल इंजीनियर  की salary कितनी होती है ? एयरोनॉटिकल इंजीनियर योग्यता क्या होती है ? Aeronautical Engineer से सम्बन्धित सभी जानकारी , इस article के लास्ट तक मिल जायेगी |

आज भी बहुत से स्टूडेंट व पेरेंट्स है जिन्हें इस क्षेत्र की  जानकारी नहीं है कि एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग क्या होती है ? और क्या इस क्षेत्र में भी हम अपने बच्चे का भविष्य देख सकते है |

इस क्षेत्र में क्या भविष्य है | आज यह article आपके सभी सवालों के जबाब दे देगा | और आप एक स्टूडेंट्स हो या पेरेंट्स दोनों ही अपनी खुद की व बच्चे की इच्छा के अनुसार , इस क्षेत्र में भी एक बेहतर भविष्य बना सकते है |

एयरोनॉटिकल  (Aeronautical Engineering) इंजीनियरिंग क्या है ? –

इंजीनियरिंग की top ब्रांचो में से एक ब्रांच Aeronautical Engineering भी है | जिसमे वैमानिक अभियांत्रिक की पढाई होती है | एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में हवाई उड़ान, डिजायन, निर्माण , डिफेन्स टेक्नोलॉजी , स्पेस रिसर्च , मिलेट्री एयरक्राफ्ट के उपकरण के साथ साथ , अंतरिक्ष यानो और मिसायल से जुडी जानकारी दी जाती है | साथ ही एयरक्राफ्ट को ऑपरेट करने वाली मशीनरी सिस्टम को डिजायन व निर्माण की भी जानकारी दी जाती है |  

एयरोनॉटिकल इंजीनियर का काम क्या होता है ? (Aeronautical Engineer ka kaam kya hota hai)

यदि हम सरल शब्दों में बताने का प्रयास करू | जिस प्रकार हम जानते है हर क्षेत्र में एक इंजीनियर की बेहद महत्वपूर्ण भूमिका होती है | जिस तरह एक भवन निर्माण में सिविल इंजीनियर की आवश्यकता होती है | जिस प्रकार एक प्लांट में बड़ी मशीन को ठीक करने के लिये, एक मैकेनिकल इंजीनियर की आवश्यकता पड़ती है | जिस प्रकार एक सॉफ्टवेयर को ठीक करने के लिये, सॉफ्टवेयर इंजीनियर की जरूरत पड़ती है | ठीक उसी प्रकार विमान में उपयोग होने वाले उपकरण का संचालन, निर्माण व ठीक करने का कार्य एक एयरोनॉटिकल इंजीनियर का होता है |

एयरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बनते है ? (Aeronautical Engineer kaise bane) –

एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनने के लिये | डिप्लोमा व डिग्री दोनों तरीके से एयरोनॉटिकल इंजीनियर बन सकते है |  साइंस स्ट्रीम से होना अनिवार्य है | मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा व डिग्री होना अनिवार्य है |

यह भी पढ़े :

जूनियर एयरोनॉटिकल इंजीनियर की योग्यता –

  • साइंस स्ट्रीम से 10th होना अनिवार्य |
  • आप 10th के बाद 12th भी कर सकते है |
  • एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग से 3 वर्ष का पॉलिटेक्निक कोर्स | 

एयरोनॉटिकल इंजीनियर की योग्यता –

  • साइंस स्ट्रीम से 12th अनिवार्य
  •  साइंस स्ट्रीम (मैथ्स , फिजिक्स और केमिस्ट्री) में 60% होना अनिवार्य | जिससे आप एंट्रेंस एग्जाम के लिये apply कर सकते है |
  • एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग से 4 वर्ष की इंजीनियरिंग डिग्री |

Top Collages of Aeronautical Engineering (टॉप  एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग के कॉलेज)-

  • IIT Bombay (Indian Institute of Technology, Bombay)
  • IIT Kanpur (Indian Institute of Technology, Kanpur)
  • IIT Khargpur (Indian Institute of Technology, Khargpur)
  • IIT Madras  (Indian Institute of Technology, Madras)
  • Amity university noida (u.p)
  • Indian Institute of space science and technology , Thiruvannanthapuram

Aeronautical Engineering fees –

एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग से यदि आप डिप्लोमा कोर्स करते है तो 3 वर्ष के 60 से 1 लाख रुपय | और यदि 4 वर्ष डिग्री कोर्स करते है तो 4 से 6 लाख रुपय पूरी चार वर्ष की फ़ीस हो सकती है |

यदि आपको दोनों ही कोर्स में गवर्नमेंट कॉलेज मिलता है तो आपकी फ़ीस में काफ़ी राहत मिल जाती है | हम आशा करते है कि आपको गवर्नमेंट कॉलेज ही प्राप्त हो |

यह भी पढ़े :

Aeronautical Engineering Subjects (एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग के कुछ प्रमुख सब्जेक्ट्स) –

  • Basics of machine
  • Basics of electronic engineering
  • Aircraft Performences
  • Fandamental of gas turbine engines
  • Aircraft stability of control
  • Control of aircraft
  • Safety of Aircraft
  • Air trefic control

एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग के जॉब सेक्टर (Job sector for  Aeronautical Engineering) –

एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग करने के बाद आपके पास दोनों ही क्षेत्र के अवसर होते है | आप दोनों ही सेक्टर गवर्नमेंट और प्राइवेट में अपना बेहतर भविष्य बना सकते है |

Aeronautical Engineering Job opportunity in Government sector –

  • ISRO (Indian Space Resarch Organisation)
  • DRDO ( Defence Research and Development Organisation)
  • HAL (Hindusthan Aeronautical Limted)
  • National Aerospace Laboratories
  • BrahMos Aerospace Pvt Ltd  

Aeronautical Engineering Job opportunity in  Private sector –

  • Boeing India Private Limted, Chennai
  • Bangalore Aircraft Industries Private Limted
  • Air works India Engineering Private Limted, Mumbai
  • Horizon Aerospace (india) Private Limted, Gurugram
  • Magellan Aerospace India Private Limted , Bangalore
  • SMR Aviation Private Limted , Delhi
  • Komoline Aerospace Limted, Ahmedabad
  • General Aeronautics Pvt Ltd , Bangalore

Aeronautical engineer salary in india  (एयरोनॉटिकल इंजीनियर को कितने रुपय मिलते है ?) –

एक एयरोनॉटिकल इंजीनियर का वेतन बेहद ही आकर्षक होता है | दोनों ही सेक्टर प्राइवेट व गवर्नमेंट में एक एयरोनॉटिकल इंजीनियर का शुरुआती वेतन 40 हज़ार से 50 हज़ार रुपए महीने होता है | जो अनुभव पर 50 से 1.50 लाख रुपय प्रति महीने वेतन प्राप्त कर सकते है |

स्टूडेंट द्वारा पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण सवाल (FAQs)-

सवाल –  क्या 12 वी के बाद हम इन कोर्सेज को कर सकते है ?

जवाब – जी हाँ | आप 12वी के बाद एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग कोर्सेज को कर सकते है |

सवाल –  डिप्लोमा कोर्सेस (पॉलिटेक्निक) में 12वी अनिवार्य है ?

जवाब – नहीं , आप एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग से डिप्लोमा कर सकते है | जिसके लिये सिर्फ 10वी साइंस स्ट्रीम से अनिवार्य है | (10+2) करने के बाद भी आप डिप्लोमा कोर्सेस को कर सकते है |

सवाल –  क्या एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग पास करने के बाद , विदेश में जॉब के अवसर मिल सकते है ?

जवाब – जी बिल्कुल , विदेश में भी एयरोनॉटिकल इंजीनियर की बहुत मांग है | डिग्री प्राप्त करने के बाद आप विदेश जॉब कर सकते है |

सवाल –  क्या इस पढाई करने के लिये कंप्यूटर ज्ञान जरुरी है ?

जवाब – हाँ , इस कोर्सेज को करने के लिये आपको कंप्यूटर ज्ञान की अच्छी खासी जानकारी होना अनिवार्य है | साथ ही इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग की भी जानकारी अनिवार्य है |

सवाल –  क्या इस क्षेत्र में जॉब की सिक्योरिटी है ?

जवाब – हर क्षेत्र में सफलता की कुंजी कड़ी मेहनत होती है | पर इस क्षेत्र में बहुत ही कम लोग इस क्षेत्र की पढाई  करते है | इस लिये इसकी डिमांड हमेशा बनी रहती है | देश–विदेश दोनों जगह यह हाई डिमांडिंग जॉब है |

सवाल – एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनने का सबसे सरल व बेहतर तरीका ?

जवाब – एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनने का सबसे ठीक तरीका है 10वी के बाद डिप्लोमा कोर्सेज को ज्वाइन करे | डिप्लोमा पूरा होने के बाद आपको डायरेक्ट 2nd year में B.tech / BE में दाखिला मिल जायेगा |

इससे कुछ लाभ होंगे जैसे –

  1. आपको (10+2) नहीं करने पड़ेगी |
  2. आपकी 2 साल बच जायेगी |
  3. आपके पास एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग में डिप्लोमा हासिल हो जायेगा
  4. आपको  एयरोनॉटिकल  इंजीनियरिंग की खूब जानकारी हो जायेगी | जो आपको B.tech / BE में बेहद मदद करेगी |

 Conclusion-  

हम उम्मीद करते है की एयरोनॉटिकल इंजीनियर (Aeronautical Engineer) कैसे बनते है ? एयरोनॉटिकल इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? एयरोनॉटिकल इंजीनियर की salary कितनी होती है ? एयरोनॉटिकल इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी इस article में आपको प्राप्त हो गयी होगी |

यदि आपको लगता है कि इस article में कुछ सुधार की आवश्यकता है तो हमे comment box में जरुर बताये | यदि आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय व सवाल पूछे |

यह article आपको अच्छा लगा हो अपने मित्र व बच्चो तक जरुर शेयर करे | ऐसे ही लाभकारी व ज्ञान को बढाने वाले article पढने के लिये, नीचे दी गयी घंटी से, हम से जुड़े | अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

सफलता का मन्त्र :

  • अपने लक्ष्य की सम्पूर्ण जानकारी का होना |
  • हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिये कड़ी मेहनत करते रहे |
  • सबसे जरुरी बात , खुद अपनी क़ाबलियत पर विश्वास रखे |
  • कभी भी निराश न हो |
  • अगर आप गलतियाँ कर रहे है , तो निराश बिल्कुल न हो , वल्कि ख़ुशी मनाये की आप कुछ नया जरुर सीख रहे है |
  • जो व्यक्ति कहता है , उसने अपने जीवन में कुछ गलतियाँ नहीं की , यकीन माने उसने अपने जीवन में कुछ नया नहीं सीखा |

चिंता व परेशान न हो यदि आप अपने करियर सम्बन्धित किसी भी समस्या से जुंझ रहे है | तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में हमे बताये |

हमेशा ध्यान रखे , उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता है | हमसे अपनी समस्या व उलझाने साँझा करे | हम हर संभव मदद आपकी करेंगे |

आपके उज्जवल भविष्य के लिये हमारी टीम Everythingpro.in की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएँ….

आप हमसे नीचे दिये बटन join telegram से जुड़े जिससे हर दिन फायदेमंद पोस्ट आप तक पहुचे |ऐसे ही अपना प्यार बनाये रखे आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद| यदि बटन काम न करे | तो दो – तीन बार पेज को रिफ्रेश करे या टेलीग्राम पर सर्च करे @everythingpro_in|

Join Telegram

Please share your friends

1 thought on “Aeronautical Engineer kaise bane-”

Leave a Comment

दिशा पटानी के बोल्ड अवतार को देखकर हो जायंगे मदहोश नुसरत बरुच्चा ने रेड साड़ी में लगाया हॉटनेस का तड़का सुषमा अधिकारी ने उड़ा दिए सबके होश भोजपुरी इंडस्ट्री की यह 7 एक्ट्रेस है सबसे बोल्ड