केमिकल इंजीनियर (chemical engineer) कैसे बनते है ?

यदि आपकी भी रूचि केमिस्ट्री सब्जेक्ट में अधिक है | और आप भी अपना करियर एक केमिकल इंजीनियर (chemical engineer) के रूप में अपना भविष्य बनाना चाहते है | तो यह पूरा आर्टिकल आपके लिये ही है |

जिसमे हम बात करेंगे कि  केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) कैसे बनते है ? केमिकल इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? केमिकल इंजीनियर की salary कितनी होती है ? केमिकल इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी , इस article के लास्ट तक आपको मिल जायेगी |

इंजीनियरिंग की हर मुख्य ब्रांचो में से एक केमिकल इंजीनियरिंग (Chemical Engineering) भी है | जिन बच्चो को केमिस्ट्री सब्जेक्ट से अधिक प्रेम होता है, और वो डॉक्टर के रूप में अपना भविष्य नहीं बनाना पसंद करते है | वल्कि वो एक इंजीनियर के रूप में अपना भविष्य बनाना चाहते है , तो केमिकल इंजीनियर (chemical engineer) एक बेहतर विकल्प हो सकता है |  

जिस प्रकार हर क्षेत्र में एक इंजीनियर की जरूरत व मांग हमेशा रहती है, चाहे वो किसी भी रूप में हो – सिविल इंजीनियर , मैकेनिकल इंजीनियर , इलेक्ट्रिकल इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर इंजीनियर , उसी प्रकार एक केमिकल इंजीनियर की भी मांग हमेशा ही भविष्य में रहेगी |

इस क्षेत्र में भी यदि आप अपनी पूरी लगन व मेहनत से इस क्षेत्र को अपने करियर के रूप में बनाना चाहते है तो यह केमिकल इंजीनियरिंग का क्षेत्र भी एक सुनहेरा अवसर है | अपने करियर को सफल बनाने के लिये |

केमिकल इंजीनियरिंग क्या है ? (Chemical Engineering kya hai) –

केमिकल इंजीनियरिंग में स्टूडेंट्स को रसायनों व रासयनिक उत्पादों के बारे में जानकारी दी जाती है | और उत्पादों पर रिसर्च करके नये उत्पादों को बनाने के कार्य को सिखाया जाता है | केमिकल इंजीनियरिंग में रॉ मटेरियल को उपयोगी प्रोडक्ट बनाने के लिये केमिकल का उपयोग करना होता है | जिसके बाद ही वो रॉ मटेरियल, उपयोगी प्रोडक्ट्स में परिवर्तित होता है | व कार्य के योग्य बनता है |

केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) kaise bane-

जूनियर केमिकल इंजीनियर (junior chemical engineer) की योग्यता –

  • साइंस स्ट्रीम से 10th होना अनिवार्य |
  • आप 10th के बाद 12th भी कर सकते है |
  • केमिकल इंजीनियरिंग से 3 वर्ष का पॉलिटेक्निक कोर्स | 

केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) की योग्यता –                  

  • साइंस स्ट्रीम से 12th अनिवार्य
  •  साइंस स्ट्रीम (मैथ्स , फिजिक्स और केमिस्ट्री) में 60% होना अनिवार्य | जिससे आप एंट्रेंस एग्जाम के लिये apply कर सकते है |
  • केमिकल इंजीनियरिंग से 4 वर्ष की इंजीनियरिंग डिग्री पूर्ण करने पर |

केमिकल इंजीनियर काम क्या करते है ? (chemical engineer kaam kya karte hai) –

एक केमिकल इंजीनियर के कार्य , हर इंजीनियर की तरह निम्न कार्य होते है | यदि एक केमिकल इंजीनियर की बात करे तो वो मुख्य रूप से जैसे- एक रॉ मटेरीयल को केमिकल प्रोडक्ट बनाने के साथ – साथ , सुपरविजन, उपकरण की डिजाइनिंग, प्रोसेस मटेरीयल , प्रोसेस ऑपरेशन का कार्य करते है |

एक केमिकल इंजीनियर प्लांट्स के अतिरिक्त, केमिकल इंजीनियर नये केमिकल प्रोडक्ट्स की रिसर्च करने के लिये बायो-टेक या बायोटेक्नोलॉजी फ़र्म में भी कार्य करते है |

केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) के कुछ मुख्य पद  –

  • Energy Manager
  • Materials Engineer
  • Production Engineer
  • Process Engineer
  • Quality Engineer
  • Waste management officer
  • Analytical Manager

केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) के मुख्य फिल्ड –

  • Oil & Petrolium Industries
  • Food Scientist & technology
  • Food process industries
  • Paints and chemical industries
  • Biotechnology resarch centers
  • Healthcare industries

 Top Collage of Chemical Engineering in india  (टॉप केमिकल इंजीनियरिंग के कॉलेज)-

  • IIT Madras  (Indian Institute of Technology Madras)  
  • IIT Delhi (Indian Institute of Technology Delhi)  
  • IIT Bombay (Indian Institute of Technology, Bombay)
  • IIT Kanpur (Indian Institute of Technology, Kanpur)
  • IIT Khargpur (Indian Institute of Technology, Khargpur)
  • IIT Roorkee ((Indian Institute of Technology, Roorkee)
  • IIT Guwahati (Indian Institute of Technology, Guwahti)
  • IIT Hyderabad (Indian Institute of Technology, Hyderabad)

Chemical Engineering Subjects (केमिकल   इंजीनियरिंग के कुछ प्रमुख सब्जेक्ट्स)-

  • Basic civil & mechanical engineering (1st  Semester / 1st-Year)
  • Engineering Mechanics (1st/1st)
  • Material Science (2nd/1st)
  • Environmental Science (2nd/1st)
  • Engineering Thermodynamics (2nd/1st)
  • Process Calculations (3/2nd)
  • Momentum Transfer (3/2nd)
  • Organic chemistry (4th/2nd)
  • Chemical Engineering Thermodynamics (4th/2nd)
  • Process Heat Transfers (4th/2nd)
  • Process Instrumentation (5 th/3rd)
  • Chemical Reaction Engineering (5 th/3rd)
  • Mass transfer (6 th/3rd)
  • Process Dynamics & Control (7 th/4 th)
  • Process Engineering Economics (8 th/4 th)

केमिकल इंजीनियरिंग के जॉब सेक्टर (Job sector for  Chemical Engineering) –

केमिकल इंजीनियरिंग करने के बाद, एक केमिकल इंजिनियर की प्राइवेट या गवर्नमेंट सेक्टर, दोनों सेक्टर में ही भविष्य है |  हर ओइल प्लांट ,पॉवर प्लांट, थर्मल प्लांट आदि इंजीनियरिंग के क्षेत्र में केमिकल इंजीनियरिंग की आवश्यकता जरुर पड़ती है | इसी कारण से सदियों से व आने वाले समय में भी  केमिकल इंजीनियरिंग की डिमांड हमेशा ही रहती है | इसी लिये अधिकतर रासायनिक प्रेमी अपना भविष्य इस केमिकल इंजिनियर (Chemical Engineer)  में खोजते है |

Best Government companies for Chemical Engineering in india –

  • IOCL (Indian Oil Corporation Limted)
  • BPCL (Bharat Petroleum Corporation Limted)
  • HPCL  (Hindustan Petroleum Corporation Limted)
  • NFL (National Fertilizers Limted)
  • ISRO (Indian Space Resarch Organisation)
  • SAIL ( Steel Authirity of India)
  • GAIL (Gas Authority of India Limted)

Best Private companies for Chemical Engineering in india –

  • Tata Chemicals Ltd
  • UPL Limted (Chemical manufacturing)
  • Indian Pharmaceutical Manufacturing
  • Reliance Industries Limted
  • Laxmi Organics Limted
  • Asian Paints Ltd
  • Berger Paints india Ltd

Chemical engineer salary in india (केमिकल इंजीनियर को कितने रुपय मिलते है ?) –

केमिकल इंजीनियरिंग करने के बाद दोनों ही सेक्टर में आप एक अच्छा भविष्य बना सकते है | यदि हम गवर्नमेंट सेक्टर की बात करे | तो गवर्नमेंट सेक्टर में एक शुरुआत केमिकल इंजीनियर को शुरुआत में 30 से 40 हज़ार रुपए मिलते है | जो समय के साथ साथ और अनुभव पर यह आकड़ा 50  से 1 लाख रुपय महीने तक  का हो जाता है |

यदि प्राइवेट सेक्टर की बात करे | तो प्राइवेट सेक्टर में एक केमिकल इंजीनियर की शुरुआत sarely 20 से 25 हज़ार रुपय होती है जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाती है |

यह भी पढ़े :

Conclusion-

हम उम्मीद करते है की केमिकल इंजीनियर (Chemical Engineer) कैसे बनते है ? केमिकल इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? केमिकल इंजीनियर की salary कितनी होती है ? केमिकल इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी इस article में आपको प्राप्त हो गयी होगी |

यदि आपको लगता है कि इस article में कुछ सुधार की आवश्यकता है तो हमे comment box में जरुर बताये | यदि आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय व सवाल पूछे |

यह article आपको अच्छा लगा हो अपने मित्र व बच्चो तक जरुर शेयर करे | ऐसे ही लाभकारी व ज्ञान को बढाने वाले article पढने के लिये, नीचे दी गयी घंटी से, हम से जुड़े रहे | अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

सफलता का मन्त्र :

  • अपने लक्ष्य की सम्पूर्ण जानकारी का होना |
  • हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिये कड़ी मेहनत करते रहे |
  • सबसे जरुरी बात , खुद अपनी क़ाबलियत पर विश्वास रखे |
  • कभी भी निराश न हो |
  • अगर आप गलतियाँ कर रहे है , तो निराश बिल्कुल न हो , वल्कि ख़ुशी मनाये की आप कुछ नया जरुर सीख रहे है |
  • जो व्यक्ति कहता है , उसने अपने जीवन में कुछ गलतियाँ नहीं की , यकीन माने उसने अपने जीवन में कुछ नया नहीं सीखा |

चिंता व परेशान न हो यदि आप अपने करियर सम्बन्धित किसी भी समस्या से जुंझ रहे है | तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में हमे बताये |

हमेशा ध्यान रखे , उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता है | हमसे अपनी समस्या व उलझाने साँझा करे | हम हर संभव मदद आपकी करेंगे |

आपके उज्जवल भविष्य के लिये हमारी टीम Everythingpro.in की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएँ….

Please share your friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!