मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ? (Marine Engineer kaise bane) | Marine Engineering me career | Marine Engineer salary –

यदि आपको समुद्र तल पर सफर करना पसंद है या फिर ज्यादा तर समय आप समुद्र की लहरों के बीच अपना जीवन बिताना चाहते है | तो आप मरीन इंजीनियरिंग में Marine Engineer बनकर अपना करियर बना सकते है |   

जिन विधार्थी को समुद्र यात्रा और घुमने व फिरने में दिलचस्पी होती है व जल्द ही अपने करियर को बनना चाहते है वो इस क्षेत्र में आना ज्यादा पसंद करते है |

इस क्षेत्र में चुनोती भी बहुत है | जैसे – एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कई महिनो तक कम से कम 6 महीने तक अपने घर से दूर रहते है | वो अपने जीवन का ज्यादा समय एक जहाज पर बीताते है | परिवार और पेशे में तालमेल बिठाना थोडा चुनोतिपूर्ण हो जाता है | पर इस क्षेत्र में करियर बहुत ही ब्राइट होता है |

आज यह article उन बच्चो के लिये है जो मरीन इंजीनियर बनकर अपना भविष्य बनाना चाहते है | Marine Engineer kaise bane ? Marine Engineer salary ? Marine engineering scope ? Marine engineering courses, मरीन इंजीनियरिंग से सम्बन्धित सभी जानकारी , इस article के लास्ट तक मिल जायेगी |

इस article तो शुरू से लास्ट तक जरुर पढ़े | जिससे Marine Engineering से related कोई भी सवाल आपके मन में न रह जाये |

 मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ?

मरीन इंजीनियर बनने के लिये, 12th के बाद मरीन इंजीनियरिंग का कौर्स करना होता है | जिसके लिये आपको IIT-JEE एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है | जिसके बाद आपको मरीन इंजीनियरिंग के top कॉलेज में दाखिला मिलता है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के लिये आवश्यक शिक्षा / योग्यता (Marine Engineer Education Requirement) –

  • विधार्थी ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12th पास हो |
  • विधार्थी साइंस साइड से (PCM) Physics, chemistry, Maths से पास हुआ हो | 
  • साथ ही विधार्थी कम से कम 60% अंको से पास की हो |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के लिये आवश्यक शाररिक योग्यता (Marine Engineer Physical Requirement) –

  • विधार्थी की आयु कम से कम 17 वर्ष और अधिक से अधिक 25 वर्ष होनी चाहिए |
  • जो विधार्थी अनुसूचितजाति के उन विधार्थी को 5 साल की वेशेष छुट दी जाती है |

पुरुष-

  • उमीद्वार की लम्बाई कम से कम 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए
  • उमीद्वार को आँखों का कोई भी रोग न हो
  • उमीद्वार की द्रष्टि 6/6 और 6/9 होना अनिवार्य है

महिला-

  • महिला उमीद्वार की लम्बाई कम से कम 145 सेंटीमीटर होनी चाहिए
  • महिला उमीद्वार को आँखों का कोई भी रोग न हो
  • महिला उमीद्वार की भी द्रष्टि 6/6 और 6/9 होना अनिवार्य है

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) का काम क्या होता है ? (Marine Engineer ka kaam kya hota hai) / Responsibilities of Marine Engineers –

एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) जहाज पर सभी मोजूद समहू के दल का एक सदस्य होता है | जो जहाज  के सभी टेक्निकल कामो को पूर्ण करता है | जहाज में मोजूद मशीन व उनका रख- रखाव , व सभी मशीने सुचारू रूप से चल रही है या नहीं | यह सभी जिम्मेदारी भरा काम एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कन्धो पर होता है | जो वाकई एक चुनोतिपूर्ण कार्य है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के जहाज पर कुछ महत्वपूर्ण कार्य –

  • एक मरीन इंजीनियर जहाज पर सभी टेक्निकल कार्य प्रबंध एक मरीन इंजीनियर ही करता है |
  • जहाज पर मोजूद होने वाली सभी मशीन जैसे – स्टीम टरबाइन, गैस टरबाइन, डीजल इंजन आदि की समस्या का निवारण एक मरीन इंजीनियर ही करता है |
  • एक मरीन इंजीनियर इंजन रूम के निर्माण के  अलावा जहाज के संचालन का भी काम करते है |
  • जहाज के इंजन व किसी भी मशीनरी सिस्टम में खराबी आने पर, ठीक करना एक मरीन इंजीनियर का ही कार्य होता है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) बनने के लिये कोर्स –

  • Bachelor of Technology in Marine Engineering (4 year undergraduate program)
  • Bachelor of Science in Nautical science (3 year undergraduate program)
  • Master of Technology in Marine Engineering (2 year postgraduate program)

 Top Collages of Marine Engineering in india (भारत के टॉप मरीन इंजीनियरिंग के कॉलेज)-

  • Indian Maritime University , Channai
  • Indian Maritime University, Mumbai
  •  International Maritime Institute ,Delhi
  • IIT Madras  (Indian Institute of Technology Madras)  
  •  Andhra University , Visakhapatnam
  • Tolani Maritime Institute, Pune
  • Samundra Institute of Maritime Studies, Pune
  • Coachi University Science and Technology
  • Marine Engineering Resarch Institute, kolkatta
  • Indian Institute of Port Management , kolkatta

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की  job opportunity –  

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की  job opportunity में आप जहाज निर्माण कम्पनी , इंजन प्रोडक्शन कम्पनी, शिप डिज़ाइन कम्पनी, व भारतीय नोसेना में एक बेहतर भविष्य बना सकते है | मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की जरुरत विदेशो में भी काफी मांग है | आप विदेश में भी एक अच्छा करियर बना सकते है |

Top Companies Marine Engineers Jobs in india ( भारत में प्रमुख मरीन इंजीनियर के लिये जॉब्स)-

  • Indian Navy 4.5*
  • Synergy Marine Group 4.3*
  • Fleet Management 4.1*
  • Maersk Group 4.0*
  • TeeKay 3.8*
  • Schlumberger 3.8*
  • Executive Ship Management 3.8*
  • Schulte Group 3.8*
  • Mitsui O.S.K Line 3.7*
  • Mediterranean Shipping Company 3.7*

Marine engineer ki sarely kitni hoti hai ( मरीन  इंजीनियर को कितने रुपय मिलते है ?) –

एक मरीन इंजीनियर के पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति का वेतन बेहद ही आकर्षक होता है | यह निर्भर करता है कि आप भारतीय जहाज पर है या अंतरराष्ट्रिय जहाज पर है | यदि एक मरीन इंजीनियर भारतीय जहाज पर काम कर रहा है | तो शुरुआती वेतन 30 से 45 हज़ार रुपय महीने मिलता है | जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाता है |

इसके अतिरिक्त अन्य सरकारी सेवा भी मिलती है | हम आपको बता दे , एक मरीन इंजीनियर ज्यादा तर 6 महीने तक जहाज पर रहता है जिसके कारण उन्हें NRI (Non Resident Indian) का दर्जा मिल जाता है | जिससे उनका मिलने वाला वेतन भारतीय टेक्स से भी मुक्त हो जाता है |

यदि एक मरीन इंजीनियर प्रोडक्शन कंपनीज में काम करते है तो शुरुआती सैलरी 25 से 30 हज़ार रुपए मिलती है जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाती है |

यह भी पढ़े –

Conclusion-

हम उम्मीद करते है की मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ? मरीन इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? मरीन इंजीनियर की salary कितनी होती है ? मरीन इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी इस article में आपको प्राप्त हो गयी होगी |

यदि आपको लगता है कि इस article में कुछ सुधार की आवश्यकता है तो हमे comment box में जरुर बताये | यदि आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय व सवाल पूछे |

यह article आपको अच्छा लगा हो अपने मित्र व बच्चो तक जरुर शेयर करे | ऐसे ही लाभकारी व ज्ञान को बढाने वाले article पढने के लिये हम से जुड़े रहे | अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

सफलता का मन्त्र :

  • अपने लक्ष्य की सम्पूर्ण जानकारी का होना |
  • हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिये कड़ी मेहनत करते रहे |
  • सबसे जरुरी बात , खुद अपनी क़ाबलियत पर विश्वास रखे |
  • कभी भी निराश न हो |
  • अगर आप गलतियाँ कर रहे है , तो निराश बिल्कुल न हो , वल्कि ख़ुशी मनाये की आप कुछ नया जरुर सीख रहे है |
  • जो व्यक्ति कहता है , उसने अपने जीवन में कुछ गलतियाँ नहीं की , यकीन माने उसने अपने जीवन में कुछ नया नहीं सीखा |

चिंता व परेशान न हो यदि आप अपने करियर सम्बन्धित किसी भी समस्या से जुंझ रहे है | तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में हमे बताये |

हमेशा ध्यान रखे , उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता है | हमसे अपनी समस्या व उलझाने साँझा करे | हम हर संभव मदद आपकी करेंगे |

आपके उज्जवल भविष्य के लिये हमारी टीम Everythingpro.in की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएँ….

Please share your friends
  • 1
    Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!