Table of Article

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ? (Marine Engineer kaise bane) | Marine Engineering me career | Marine Engineer salary –

यदि आपको समुद्र तल पर सफर करना पसंद है या फिर ज्यादा तर समय आप समुद्र की लहरों के बीच अपना जीवन बिताना चाहते है | तो आप मरीन इंजीनियरिंग में Marine Engineer बनकर अपना करियर बना सकते है |   

जिन विधार्थी को समुद्र यात्रा और घुमने व फिरने में दिलचस्पी होती है व जल्द ही अपने करियर को बनना चाहते है वो इस क्षेत्र में आना ज्यादा पसंद करते है |

इस क्षेत्र में चुनोती भी बहुत है | जैसे – एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कई महिनो तक कम से कम 6 महीने तक अपने घर से दूर रहते है | वो अपने जीवन का ज्यादा समय एक जहाज पर बीताते है | परिवार और पेशे में तालमेल बिठाना थोडा चुनोतिपूर्ण हो जाता है | पर इस क्षेत्र में करियर बहुत ही ब्राइट होता है |

आज यह article उन बच्चो के लिये है जो मरीन इंजीनियर बनकर अपना भविष्य बनाना चाहते है | Marine Engineer kaise bane ? Marine Engineer salary ? Marine engineering scope ? Marine engineering courses, मरीन इंजीनियरिंग से सम्बन्धित सभी जानकारी , इस article के लास्ट तक मिल जायेगी |

इस article तो शुरू से लास्ट तक जरुर पढ़े | जिससे Marine Engineering से related कोई भी सवाल आपके मन में न रह जाये |

 मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ?

मरीन इंजीनियर बनने के लिये, 12th के बाद मरीन इंजीनियरिंग का कौर्स करना होता है | जिसके लिये आपको IIT-JEE एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है | जिसके बाद आपको मरीन इंजीनियरिंग के top कॉलेज में दाखिला मिलता है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के लिये आवश्यक शिक्षा / योग्यता (Marine Engineer Education Requirement) –

  • विधार्थी ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12th पास हो |
  • विधार्थी साइंस साइड से (PCM) Physics, chemistry, Maths से पास हुआ हो | 
  • साथ ही विधार्थी कम से कम 60% अंको से पास की हो |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के लिये आवश्यक शाररिक योग्यता (Marine Engineer Physical Requirement) –

  • विधार्थी की आयु कम से कम 17 वर्ष और अधिक से अधिक 25 वर्ष होनी चाहिए |
  • जो विधार्थी अनुसूचितजाति के उन विधार्थी को 5 साल की वेशेष छुट दी जाती है |

पुरुष-

  • उमीद्वार की लम्बाई कम से कम 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए
  • उमीद्वार को आँखों का कोई भी रोग न हो
  • उमीद्वार की द्रष्टि 6/6 और 6/9 होना अनिवार्य है

महिला-

  • महिला उमीद्वार की लम्बाई कम से कम 145 सेंटीमीटर होनी चाहिए
  • महिला उमीद्वार को आँखों का कोई भी रोग न हो
  • महिला उमीद्वार की भी द्रष्टि 6/6 और 6/9 होना अनिवार्य है

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) का काम क्या होता है ? (Marine Engineer ka kaam kya hota hai) / Responsibilities of Marine Engineers –

एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) जहाज पर सभी मोजूद समहू के दल का एक सदस्य होता है | जो जहाज  के सभी टेक्निकल कामो को पूर्ण करता है | जहाज में मोजूद मशीन व उनका रख- रखाव , व सभी मशीने सुचारू रूप से चल रही है या नहीं | यह सभी जिम्मेदारी भरा काम एक मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कन्धो पर होता है | जो वाकई एक चुनोतिपूर्ण कार्य है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) के जहाज पर कुछ महत्वपूर्ण कार्य –

  • एक मरीन इंजीनियर जहाज पर सभी टेक्निकल कार्य प्रबंध एक मरीन इंजीनियर ही करता है |
  • जहाज पर मोजूद होने वाली सभी मशीन जैसे – स्टीम टरबाइन, गैस टरबाइन, डीजल इंजन आदि की समस्या का निवारण एक मरीन इंजीनियर ही करता है |
  • एक मरीन इंजीनियर इंजन रूम के निर्माण के  अलावा जहाज के संचालन का भी काम करते है |
  • जहाज के इंजन व किसी भी मशीनरी सिस्टम में खराबी आने पर, ठीक करना एक मरीन इंजीनियर का ही कार्य होता है |

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) बनने के लिये कोर्स –

  • Bachelor of Technology in Marine Engineering (4 year undergraduate program)
  • Bachelor of Science in Nautical science (3 year undergraduate program)
  • Master of Technology in Marine Engineering (2 year postgraduate program)

 Top Collages of Marine Engineering in india (भारत के टॉप मरीन इंजीनियरिंग के कॉलेज)-

  • Indian Maritime University , Channai
  • Indian Maritime University, Mumbai
  •  International Maritime Institute ,Delhi
  • IIT Madras  (Indian Institute of Technology Madras)  
  •  Andhra University , Visakhapatnam
  • Tolani Maritime Institute, Pune
  • Samundra Institute of Maritime Studies, Pune
  • Coachi University Science and Technology
  • Marine Engineering Resarch Institute, kolkatta
  • Indian Institute of Port Management , kolkatta

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की  job opportunity –  

मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की  job opportunity में आप जहाज निर्माण कम्पनी , इंजन प्रोडक्शन कम्पनी, शिप डिज़ाइन कम्पनी, व भारतीय नोसेना में एक बेहतर भविष्य बना सकते है | मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) की जरुरत विदेशो में भी काफी मांग है | आप विदेश में भी एक अच्छा करियर बना सकते है |

Top Companies Marine Engineers Jobs in india ( भारत में प्रमुख मरीन इंजीनियर के लिये जॉब्स)-

  • Indian Navy 4.5*
  • Synergy Marine Group 4.3*
  • Fleet Management 4.1*
  • Maersk Group 4.0*
  • TeeKay 3.8*
  • Schlumberger 3.8*
  • Executive Ship Management 3.8*
  • Schulte Group 3.8*
  • Mitsui O.S.K Line 3.7*
  • Mediterranean Shipping Company 3.7*

Marine engineer ki sarely kitni hoti hai ( मरीन  इंजीनियर को कितने रुपय मिलते है ?) –

एक मरीन इंजीनियर के पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति का वेतन बेहद ही आकर्षक होता है | यह निर्भर करता है कि आप भारतीय जहाज पर है या अंतरराष्ट्रिय जहाज पर है | यदि एक मरीन इंजीनियर भारतीय जहाज पर काम कर रहा है | तो शुरुआती वेतन 30 से 45 हज़ार रुपय महीने मिलता है | जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाता है |

इसके अतिरिक्त अन्य सरकारी सेवा भी मिलती है | हम आपको बता दे , एक मरीन इंजीनियर ज्यादा तर 6 महीने तक जहाज पर रहता है जिसके कारण उन्हें NRI (Non Resident Indian) का दर्जा मिल जाता है | जिससे उनका मिलने वाला वेतन भारतीय टेक्स से भी मुक्त हो जाता है |

यदि एक मरीन इंजीनियर प्रोडक्शन कंपनीज में काम करते है तो शुरुआती सैलरी 25 से 30 हज़ार रुपए मिलती है जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाती है |

यह भी पढ़े –

Conclusion-

हम उम्मीद करते है की मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ? मरीन इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? मरीन इंजीनियर की salary कितनी होती है ? मरीन इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी इस article में आपको प्राप्त हो गयी होगी |

यदि आपको लगता है कि इस article में कुछ सुधार की आवश्यकता है तो हमे comment box में जरुर बताये | यदि आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय व सवाल पूछे |

यह article आपको अच्छा लगा हो अपने मित्र व बच्चो तक जरुर शेयर करे | ऐसे ही लाभकारी व ज्ञान को बढाने वाले article पढने के लिये हम से जुड़े रहे | अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

सफलता का मन्त्र :

  • अपने लक्ष्य की सम्पूर्ण जानकारी का होना |
  • हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिये कड़ी मेहनत करते रहे |
  • सबसे जरुरी बात , खुद अपनी क़ाबलियत पर विश्वास रखे |
  • कभी भी निराश न हो |
  • अगर आप गलतियाँ कर रहे है , तो निराश बिल्कुल न हो , वल्कि ख़ुशी मनाये की आप कुछ नया जरुर सीख रहे है |
  • जो व्यक्ति कहता है , उसने अपने जीवन में कुछ गलतियाँ नहीं की , यकीन माने उसने अपने जीवन में कुछ नया नहीं सीखा |

चिंता व परेशान न हो यदि आप अपने करियर सम्बन्धित किसी भी समस्या से जुंझ रहे है | तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में हमे बताये |

हमेशा ध्यान रखे , उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता है | हमसे अपनी समस्या व उलझाने साँझा करे | हम हर संभव मदद आपकी करेंगे |

आपके उज्जवल भविष्य के लिये हमारी टीम Everythingpro.in की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएँ….

Please share your friends

2 thoughts on “मरीन इंजीनियर (Marine Engineer) कैसे बनते है ?”

Leave a Comment

error: Content is protected !!
12th के बाद सबसे ज्यादा मुश्किल कोर्सेज़ Right time to upload reels on Instagram You will get views in crores. विराट और अनुष्का के घर आया एक नन्हा मेहमान, रखा ये नाम इंस्टाग्राम पर रील अपलोड करने का सही समय | मिलेंगे व्यू करोड़ो में