दुनिया ने बोला तुम से न हो पायेगा….30 साल के इंजीनियर लड़के ने खड़ी कर दी करोड़ो की कम्पनी-

आज यह article आपके अंदर बहुत सीख दे कर जायेगा | उत्तर प्रदेश के छोटे शहर का लड़का जिसके स्कूल के टीचर बोला कि तुम जिंदगी में कुछ भी नहीं कर सकते | और इस शब्द की जिद ने ही बना दिया करोड़ो की कम्पनी का मालिक |

आप सभी का एक बार फिर everythingpro.in के success story in hindi में स्वागत है | चलिए शुरू करते है एक और जोश व नई प्रेणना देने वाली मोटीवेट स्टोरी जो आपके लक्ष्य तक पहुचने में मदद करेगी |

परिचय-

आज हम जिन शक्स के बारे में बात कर रहे है वो है आमिर क़ुतुब (Amir Qutub) | आमिर क़ुतुब उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर के रहने वाले है | आमिर क़ुतुब एक बहुत ही साधारण परिवार से है | आमिर क़ुतुब के पिता जी हमेशा से चाहते थे कि उनका बेटा डॉक्टर या इंजीनियर बने | पर आमिर क़ुतुब चाहते थे कि वो कुछ ऐसा बिज़नस करे या काम करे |

जिसमे वो खुश रहे | मुख्य रूप से आमिर क़ुतुब अपना ही कुछ बिज़नस करना चाहते थे | पर क्या करना था ? कैसे करना था ? इसकी उन्हें कोई भी समझ नहीं थी | आमिर क़ुतुब के पिता जी अक्सर उनसे कहा करते कि इन सब के चक्कर में न पड़ो आगे अपनी पढाई करो और एक अच्छी सी जॉब करने की सोंचो |

यह सब बिज़नस पैसे वालो के ही काम है | हमारे बस का काम नहीं है | पर कही न कही आमिर क़ुतुब इन शब्दों से संतुष्ट नहीं थे | 

इंजीनियरिंग की दस्तक-

पापा की उस वक़्त बात मानते हुए | आमिर क़ुतुब ने इंजीनियरिंग में दाखिला ले लिया | और न चाहते हुए उन्हें इंजीनियरिंग में मैकेनिकल इंजीनियरिंग मिल गयी | पर उन्होंने सोंचा कि चलो हम इसमें ही कुछ नया सीखने को मिलेगा | नई गाड़िया बगेरा बनाने को मिलेगा | पर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ |

यहा भी वही हुआ जो 12वी तक हुआ करता, वोही फार्मूला, वोही कंसेप्ट, वोही एग्जाम सब वोही सब पर कुछ नया सीखने को नहीं | ऐसा कुछ भी नहीं जो हम अपनी आने वाली जिंदगी में प्रेक्टिकली कर के देखे | और इस तरह आमिर क़ुतुब का पढाई से मन हटने लगा |

इस वजह से आमिर क़ुतुब के अंक कम आने लगे | एक बार तो एक टीचर ने भरी क्लास में आमिर क़ुतुब से बोला कि तुम लिख के लेलो, तुम अपनी जिंदगी में कुछ भी नहीं कर सकते | और यह बात आमिर क़ुतुब के दिल को बहुत लगी | और वो अंदर ही अंदर टूटने लगे |

उन्हें लगने लगा कि वो वाकई अपनी जिंदगी में कुछ भी नहीं कर सकते | वो क्लास बंक करने लगे पढाई से उनका बिल्कुल मन हट गया |

कॉलेज के प्रोग्राम से आया वापिस आया विश्वास-

इंजीनियरिंग कॉलेज में हर कुछ महीने में कोई न कोई प्रोग्राम या फेस्टिवल होते रहते है | आमिर क़ुतुब के कॉलेज में भी एक दिन टेक फेस्टिवल आयोजित हुआ | जिसमे आमिर क़ुतुब ने 2nd ईनाम जीता | और जब वो अपना ईनाम लेने गये तो उन्ही टीचर ने दिया जिन्होंने बोला था कि तुम लिख के लेलो, तुम अपनी जिंदगी में कुछ भी नहीं कर सकते |

उसी वक़्त आमिर क़ुतुब ने अपने आप से बोला भले ही में पढाई में कमजोर हूँ | पर में अपनी जिंदगी में कुछ तो कर सकता हूँ | जो आज में 2nd पोजीशन पर आया हूँ | इस तरह आमिर क़ुतुब का एक बार फिर कुछ नया करने के लिए प्रेरित हुए |

रुख मोड़ा कंप्यूटर इंजीनियरिंग की तरफ-

टेक फेस्टिवल में अच्छी परफोर्मेंस के बाद आमिर क़ुतुब के अंदर एक विचार आता है कि वो अपने कॉलेज के लिए कुछ ऐसा बनाये जिससे उनके कॉलेज के बच्चे आपस में जुड़ सके | और अपने आईडिया share कर सके | आमिर क़ुतुब ने अपने दोस्तों से अपनी बाते सांझा की | पर उनके दोस्तों ने बोला कि तुम हो मैकेनिकल इंजीनियरिंग के और तुम्हे कंप्यूटर के बारे में कुछ पता नहीं है और तुम app बनाने की बात कर रहे हो |

आमिर क़ुतुब ने अपने दोस्तों की बातो को इग्नोर किया और 6 महीने कंप्यूटर कोडिंग सीखी | और कुछ महीने में ही अपने ही स्कूल के लिए एक apps बना दी | जिसमे कुछ ही महीने में उनके कॉलेज से 2 हज़ार बच्चे जुड़ गये | जिससे उन्हें एक नया विश्वास मिला | टीचर को सब कुछ नहीं पता है | कुछ तो है जो में अपनी जिंदगी में कर सकता हूँ |

इंजीनियरिंग के बाद जॉब के द्वार पर दस्तक देना-

हर इंजीनियरिंग स्टूडेंट अपनी इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद दिल्ली या नॉएडा की तरफ भागते है | और ऐसा ही हुआ आमिर क़ुतुब के साथ वो भी आ गये | उत्तर प्रदेश के नॉएडा शहर में और कई जगह जॉब के लिए apply करने लगे |

मैकेनिकल इंजीनियरिंग होने के कारण उन्हें हौंडा कम्पनी में जॉब मिली | पर वहा कुछ ही महीने के बाद उन्हें ऐसास हुआ कि जैसे वो एक जेल में बंद हो | और उन्होंने वहा से जॉब छोड़ दी और निकल गये अपने सपनो की ओर |

जॉब छोड़ने के बाद समस्या यह थी कि वो क्या करे | क्योकि उनके पास पैसे नहीं थे | अपना बिज़नस करने के लिये | पैसे कमाने के लिए वो freelancer कम्पनी का उपयोग करने लगे | जिसमे वो लोगो के बिज़नस प्रॉब्लम को , अपनी app के रूप में solve करके देने लगे |

freelancer के वजह से उनके भारत के बहार ऑस्ट्रेलिया में लोगो से सम्पर्क होने लगे | और उसी में से एक ने सुझाव दिया कि आप ऑस्ट्रेलिया ही आये | और यहा अपना बिज़नस करे | और यह आईडिया आमिर क़ुतुब को पसंद आ गया | और उन्होंने स्टूडेंट visa बनवा कर, MBA करने के लिये और अपना बिज़नस शुरू करने के लिये ऑस्ट्रेलिया पहुच गये |

मुश्किल समय-

ऑस्ट्रेलिया पहुचने के बाद उनके सामने बहुत समस्या आयी | उन्होंने सोंचा की ऑस्ट्रेलिया आकर उनकी मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री काम आयेगी | पर ऐसा नहीं हुआ उन्होंने लगातार 170 जॉब के लिए apply किया | पर हर जगह से निराशा हाथ लगी |

उस वक़्त उन्हें लगा जैसे उन्होंने अपने पैरो पर कुल्हाड़ी मार दी हो | जब कही भी जॉब नहीं मिली तो उन्होंने एअरपोर्ट पर कचरा व झाड़ू लगाने का काम मिला | जिससे वो वहा रह और खा सके | पर इतना सब उनके लिये काफी नहीं था क्योकि उन्हें अपना बिज़नस के लिए पैसे कमाने थे | दिन में एअरपोर्ट में कचरा उठाने और झाड़ू लगाने का काम और रात में न्यूज़ पेपर लोगो के घर में फेकने का काम |

यह सब उन्होंने 1 से 1.5 साल तक किया और इसमें उन्होंने 4000$ पैसे जमा कर के, अपना बिज़नस शुरू किया जिसमे वो लोगो के बिज़नस की समस्या अपनी app बना कर solve करते | कई महीने तक घुमने पर उन्हें ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं मिला जो उनके साथ काम करना चाहे |

आमिर क़ुतुब ट्रेन, बस, मॉल, आदि जगह जाते और अपने बिज़नस के बारे में लोगो को बताते | पर कई महीने मेहनत करने के बाद एक बार बस में ऐसा व्यक्ति मिला जिसकी बिज़नस की समस्या  आमिर क़ुतुब ने दूर कर दी | और इसके बाद उस व्यक्ति को हर महीने 2000$ से 3000$ (भारतीय रूपए लघभग 2 लाख 20 हज़ार ) का प्रॉफिट होने लगा | और आमिर क़ुतुब को मंजिल मिल गयी | और साथ में बिज़नस करने लगे |

धीरे धीरे वो अन्य लोगो के साथ बिज़नस करने लगे | और आज उन्होंने अपनी खुद की कम्पनी खोल दी |जो की ऑस्ट्रेलिया में है | जिसका सालाना टर्नओवर करोड़ो में है | यह वाकई मेहनत और लगन का ही फल है |

हमने आज इस article से क्या सीखा-

हमने आज इस article के माध्यम से आप सभी को समझने का प्रयास किया है कि जिंदगी में मेहनत के बाद ही सफलता है | मेहनत करते जाईये सफलता आपका इंतजार कर रही है |

उम्मीद करते है यह article आपको नई प्रेणना देगा और आपके लक्ष्य तक पहुचने में मदद करेगा | अपने मित्र व परिवार तक जरुर share करे | ऐसे ही interested व मोटीवेट article के लिए हमारी website से जुड़े रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

Please share your friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!