यदि आप बड़े पद पर है या बड़े पद पर जाना चाहते है तो जरुर जाने इन बातो को –

आज यह article आपको समझाने का प्रयास करेगा कि यदि हम एक अच्छे बड़े पद पर है या हम चाहते है या  हम एक बड़े पद पर जाने के लिये मेहनत कर रहे है | तो हम उस पद पर कैसे अपने आप को स्थर रख सकते है | या हम दूसरे शब्द में बताऊ कि यदि एक IAS/PCS/IRS व अन्य बड़े अफ़सर के पद पर है तो यह IAS / PCS अफ़सर किस प्रकार अपनी सोंच रखते है |

हम आपको बताने का प्रयास करेंगे कि यदि आपको एक अच्छा व बड़ा पद का अफ़सर बनना है तो अपने आप की सोंच में थोडा परिवर्तन करना ही होगा | तब ही आप एक अच्छा और बड़ा अफ़सर बन सकते है | आप सभी का एक बार फिर everythingpro.in के My Thinking में स्वागत है |

हम कोशिश करेंगे कि हम आपको इस article के माध्यम से कुछ नयी सीख देने में सफल हो |

यदि आपको एक अच्छा अफसर बनना है तो ध्यान देना होगा इन बातो पर-

एक अच्छा अफ़सर बन जाने के बाद | हर अफ़सर कि सोंच में परिवर्तन होता है | उन्हें ध्यान देना चाहिए कि यदि हम एक बड़े पद पर है तो हमे अपने जूनियर व अपने ऑफिस के कर्मचारी के साथ किस प्रकार का व्यवहार करना चाहिए |

यदि हमारे पास कोई भी गरीब व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आता है | तो हमे सोंचना व समझना चाहिए | कि वो व्यक्ति कितनी उम्मीद से हमारे पास एक विश्वास से एक उम्मीद से आता है | कि हमारा काम यहा हो जायेगा | हमारे इस article का यह मकसद है कि हम किसी भी सर्विस में हो कितने भी बड़े पद पर हो हमारे अंदर एक बडपन होना चाहिए |

तब ही हम एक सफर अफ़सर बन सकते है | चलिए आपको समझाने का प्रयास करते है | यदि हम एक बड़े पद पर है और हमारे ऑफिस का कोई भी कर्मचारी यदि सुबह हररोज 5-10 मिनट लेट आता है तो हमे उसे डाटने के वजह समझने की कोशिश करनी  चाहिए कि आखिर वो किस वजह से लेट आ रहा है |

ऐसा तो नहीं कि उसके घर में उसकी पत्नी कि तबयत ख़राब हो और वो हर रोज खाना बना कर अपने बच्चे को स्कूल भेज कर ऑफिस आता हो और इस वजह से हर रोज कुछ मिनट लेट होता जाता है | मतलब यह है कि आप जितने ऊँचे पद पर है तो आपको थोडा बडपन रखना चहिये |

आपको अपने साथ कर्मचारी से बात करनी चाहिए कि तुम्हारे घर पर सब कैसे है ? बच्चे कैसे है ? बच्चे पढ़ते है या नहीं | ऐसे करने से आपकी छवि निखरेगी | आप अपने स्टाफ की नजरो में एक अच्छे अफसर की भूमिका में होंगे |

 यह भी पढ़े :

एक अलग विचार –

एक बड़े अफसर को अपनी सोंच को थोडा औरो की अपेक्षा उपर रखनी पढ़ती है | जब तक आप ऐसा नहीं करेंगे | आप कही न कही एक बड़े अफ़सर पूर्ण रूप से नहीं बन सकते | यदि आप एक आईएएस अफसर है और कोई गरीब व्यक्ति आपके पास आता है | किसी भी काम को लेकर |

जो वो काम हर किसी के पास लेकर जा चुके  हो | उन्हें यहा भी उम्मीद न हो कि यह काम उनका हो जयेगा | और आपने, वो उनका काम कर दिया हो | तो जो उनका दिल से शुक्रिया आपके लिए होगा | वो एक शुक्रिया बहुत ही अनमोल होगा एक प्रेणना देने वाला होगा | कहने का मतलब यह है कि यदि किसी जरुरत मंद व्यक्ति की आप मदद कर रहे है |

उसके बदले मिलने वाली शुक्रिया व दुआ | आपको एक सुखद एसास दिलाएगा | जो आपको अगले दिन नये जोश व नई प्रेणना से काम करने को मजबूर करेगा |

हमने इस article से क्या सिखा-

इस article के माध्यम से बताने का प्रयास किया | यदि आप एक बड़े अफ़सर है तो हमे अपने अंदर बडपन बनकर रहना चाहिए | हमे अपने सामने वाले व्यक्ति की नजरो से सोंचना चाहिए | हमे लोगो की सोंच से थोडा उपर रख कर विचार करना चाहिए | यह सभी गुण ही एक बड़ा अफसर बनाता है |

उम्मीद करते है यह article से कुछ नया सिखने को मिला होगा | व एसास हुआ होगा यदि हम एक बड़े पद पर है तो हमे कैसे अपने व्यवहार को स्थर रखना चाहिए | ऐसे ही interested article के लिए हम से जुड़े रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

Leave a Comment