दार्जिलिंग (Darjeeling) की खुशबू का अलग ही आनंद –

दार्जिलिंग (Darjeeling)- सिर्फ उत्तम श्रेणी की चाय के उत्पादन के लिये ही नहीं , वल्कि किसी स्वप्न – लोक की भांति अत्यंत खुबसूरत और आकर्षक दिखने के कारण भी दार्जिलिंग नगरी विश्व भर में प्रसीद्ध है |

कंचनजंगा पर्वत – श्रेणी तथा अपनी गोद में प्राकृतिक सुषमा का वैभव समेटे यह नगरी समुद्र तल से 2,134 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है |

इसलिए यहां का मौसम हमेशा खुशगवार रहता है | यहां की हवा स्वाथ्य के लिये काफी लाभप्रद मानी जाती है |

सेंकडो साल पहले इस नगरी का नाम ‘दोर्जलिंग’ था | जिसका अर्थ होता है – रहस्य से भरा स्थान | पहले यहां से दिखने वाली सुन्दरता एक रहस्य सी लगती थी |

इसलिए इसे ‘दोर्जलिंग’ कहा जाता रहा होगा | बाद में यह दार्जिलिंग कहलाने लगा |

दार्जिलिंग (Darjeeling) से कुछ प्रमुख नगरो से दूरी –

  • सिलीगुड़ी – 82 किलोमीटर
  • गंगटोक – 100 किलोमीटर
  • गुवहाटी – 512 किलोमीटर
  • कलकत्ता – 655 किलोमीटर
  • दिल्ली – 2095 किलोमीटर ( वाया कलकत्ता )

दार्जिलिंग (Darjeeling) जाने का बेहतर समय –

दार्जिलिंग में खिलौना ट्रेन

यहां हमेशा मौसम एक समान नहीं रहता , लेकिन ज्यादा उतार चढाव भी नहीं होता है | ठंड में अधिकतम तापमान 6 डिग्री सेन्टीग्रेड और न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री सेन्टीग्रेड तथा गर्मी में न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री सेंटीग्रेड और अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेन्टीग्रेड रहता है |

इस प्रकार बेहतर मौसम गर्मी के दिनों में ही रहता है |  बरसात के दिनों में अत्यधिक वर्षा होती है और ठंड में अत्यधिक ठंड पड़ती है |

खिलौना ट्रेन का इंजन

इसलिए यहा घुमने लायक बेहतर समय अप्रैल के प्रारम्भ से जून के मध्य तक तथा सितंबर के मध्य से नवम्बर के मध्य तक रहता है |

दार्जिलिंग (Darjeeling) में देखने के लिये प्रमुख स्थल-

दार्जिलिंग देखने के योग्य कई जगह है जिनमे से कुछ प्रमुख जगह यह है –

लोयड वनस्पतिक उघान ( बोटेनिकल गार्डन )-

 लोयड वनस्पतिक उघान के नाम पर स्थापित इस मनभावन उघान का अपना एक अलग आकर्षण है | शहर के मुख्य बाजार मोटर स्टेण्ड के बाजु में थोडा नीचे की तरफ स्थित इस उघान में सेंकडो तरह के पेड़ , पोधो , फूलो आदि को देखा जा सकता है | हाँ , जब आप इस उघान में जाये , तो यहां का हरित ग्रह जरुर देखे |

नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम –

सन्न 1915 में स्थापित इस संग्रहालय तक पहुचने के लिये आपको नगर के प्रमुख क्षेत्र चोरास्ता से थोडा पैदल चलना पड़ेगा | यहां पर दुर्लभ वन्य पशु – पक्षियों के नमूने देखे जा सकते है , जो आमतोर पर सिर्फ दार्जिलिंग क्षेत्रऔर पूर्वी हिमालय क्षेत्र में ही दिखाई पढ़ते है |

ओब्जवेंट्री हिल –

यह दार्जिलिंग की वेह पहाड़ी है , जहां से आप कंचनजंगा की सुंदर चोटियों का अवलोचन कर सकते है | इस पहाड़ी के सिखर पर एक बेहद सुंदर शिव मन्दिर और बोध मठ भी है |

हेप्पी वैली टी एस्टेट –

नगर से 3 किलोमीटर दूर इस जगह का चाय के बाग है | इस स्थान पर चाय की पत्तियों को तेयार करने की प्रक्रिया यहां के किसी अधिकारी से अनुमति लेकर देखी जा सकती है | इन सुंदर चाय के बाग को देखना एक अलग ही सुखद ऐसास है |

रंगीन वैली पेसेंजर रोपवे –

यह रज्जू-पथ नगर से महज 3 किलोमीटर दूर नार्थ पॉइंट (7000 फूट) से शुरू होता है और सिंगला बाजार (800 फूट) तक जाता है | 8 किलोमीटर की यह दूरी इस रज्जू-पथ से तय करने में 45 मिनट लग जाते है  | इस रोपवे से नीचे का द्रश्य बेहद ही रोमांचक लगता है |

बताशिया लूप –

नगर से 5 किलोमीटर दूर स्थित यह जगह आमतोर पर पर्यटक देखना नहीं भूलते | अधिकतर नवविवाहित जोड़े इस जगह का आनंद उठाते है |

यहां रेलवे लूप इंजीनियरिंग का अचरजभरा नमूना है | इस जगह पर खिलौना गाड़ी एक अद्भुत मोड़ लेती है | जिसमे बेठ कर सफर करना अलग ही एक बेहतर अनुभव है |

यहां भी घुमने जाये – झीलों की नगरी नैनीताल

घूम मठ –

 दार्जिलिंग से 8 किलोमीटर दूर स्थित इस स्थान पर एक बोद्ध मन्दिर है | जिसमे बुद्ध भगवान की एक भव्य प्रीतमा है जो देखने योग्य है |

टाइगर हिल –

नगर से 11 किलोमीटर दूर स्थित यह स्थान पर्यटकों को विशेष रूप से प्रिय है | यदि आप अन्य पर्यटकों की तरह सूर्यास्त होने से पहले पहुच गए , तो मानो आपको ऐसा लगेगा की जीवन भर के लिये आपको एक अमूल्य निधि मिल गयी हो |

दरअसल सूर्यास्त के समय जब एवरेस्ट और कंचनजंगा पर सूर्य की किरणें पड़ती है , तब बेहद सुंदर द्रश्य होता है जिसकी कल्पना करने में भी एक सुंदर ऐसास होता है |

हर थोड़े थोड़े समय में इन  चोटियों का रंग का बदलता जाता है |  जो वाकई देखने के लायक होता है |

दार्जिलिंग (Darjeeling) में आसपास की जगह –

कुछ अन्य और आसपास की जगह जो घुमने के योग्य है जिनमे से प्रमुख है मिरिक , मिरिक झील , कलिम्पोंग , देवी स्थान , रमिते दारा , चाय बागान , संतरे का बाग आदि प्रमुख जगह है जो आप जरुर घुमने जाये |

दार्जिलिंग आप रेल व वायुयान से अभी डायरेक्ट नहीं पहुचा जा सकता | दार्जिलिंग का निकटम एअरपोर्ट बागडोगरा है जो 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |

 यदि रेलमार्ग की बात करे तो दार्जिलिंग का निकटम रेलवे स्टेशन सिलीगुड़ी और न्यू जलपाई गुडी है | ये दोनों स्टेशन देश के अनेक छोटे बड़े शहेरो से जुड़े है |

सिलीगुड़ी से दार्जिलिंग तक नीली खिलौना ट्रेन से 6-7 घंटे में तय कर सकते है | इस खिलौना गाड़ी का सफर बेहद रोमंचक होता है |

दिल्ली से सिलीगुड़ी के लिये कई ट्रेन मिल जाती है जिनमे से कुछ प्रमुख राजधानी एक्सप्रेस , अरुणाचल एक्सप्रेस , सुन्दरी एक्सप्रेस , आदि है |

नोट : वर्तमान समय में अभी covid–19 के कारण कुछ ट्रेन का आगमन नहीं है | इसलिए जाने से पहले रेलवे के कर्मचारी से जानकारी जरुर लेले |

यात्रा को सुखद , सुंदर व यादगार बनाने के लिये कुछ बातो को घ्यान में अवश्य रखना चहिये –

  • अपने परिवार के साथ मिलकर सभी के साथ यह विचार कर ले कि यात्रा कहा जाना है ? यदि आपकी ज़ेब अनुमति दे , तो कम से कम 1000 किलोमीटर की दूरी तय करे | यदि आप ट्रेन से सफर करते है | तो इस दूरी से को पूरा करने में 14 से 18 घंटे लग जाते है | जो कि आपको अपने परिवार के साथ इस समय को बिताने का अवसर मिलता है | इन लम्हों का अनुभव व आनंद ही कुछ अलग होता है | साथ ही कुछ घर लाये हुए खाने की चीजो का स्वाद और भी अधिक बढ़ जाता है | साथ ही हर स्टेशन से कुछ न कुछ खाने की चीजे व सुबह के वक़्त स्टेशन की गर्म कुल्लड वाली चाय व पकोड़े सफर को और भी अधिक सुहाना बना देता है |
  • आपको अपनी ट्रेन का रिजर्वेशन पहले से ही करा देना है ताकि आपके पूरे परिवार का रिजर्वेशन कंफ़र्म हो जाये | जिससे आपके सफर में कोई भी बांधा न आ सके |
  • अपनी इच्छा की यात्रा का चुनाव का ध्यान रखकर पहले बजट बना ले | साथ ही अपना एटीएम कार्ड साथ रख ले व ध्यान रखे सफर के दोरान अधिक पैसे साथ न रखे |
  • यात्रा पर रवाना होने के दो दिन पहले से ही यात्रा पर साथ ले जाने वाली सभी चीजो की सूची बना ले | जैसे- एटीएम कार्ड , मोबाइल चार्जर , कपडे , खाने की चीजे | ऐसे करने से साथ ले जाने वाली चीज नहीं छूटेंगी |
  • यात्रा के दोरान हल्के और आरामदायक कपड़े ही ले जाना चहिये | वो भी आवश्यकता अनुसार, अधिक नहीं |

हम उम्मीद करते है यह सफर आपको बहुत पसंद आया होगा | यदि आप इस जगह जा चुके है या फिर जाने का प्लान कर रहे है तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में जरुर बताये |

आप भारत में किस जगह जाना चाहते है हमे कमेंट बॉक्स में बताये | उस जगह की सम्पूर्ण जानकारी हमारी टीम 48 घंटे के अंदर article के माध्यम से पुब्लिस कर देगी |

हर नये सफर के लिये , हमारे article को पढ़ते रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

आप हमसे नीचे दिये बटन join telegram से जुड़े जिससे हर दिन फायदेमंद पोस्ट आप तक पहुचे |ऐसे ही अपना प्यार बनाये रखे आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद| यदि बटन काम न करे | तो दो – तीन बार पेज को रिफ्रेश करे या टेलीग्राम पर सर्च करे @everythingpro_in|

Join Telegram

यहाँ भी जाये घुमने :

Please share your friends

Leave a Comment

वास्तिविक में भी है बेहद बोल्ड है ओटीटी प्लेटफार्म एक्ट्रेस स्नेहा पॉल हेरान कर देने वाले चेहरे के लिए आलू के फायदे 48 साल की हो जाने पर भी मात देती है नई एक्ट्रेस को तरबूज के 7 फायदे जो हर किसी को मालूम होना चाहिए