Communication meaning in hindi –

यदि आप Communication meaning in hindi को सर्च कर रहे है | और आपको इस Communication meaning के बारे में विस्तार से जानना है | तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरुर पढ़े |

नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर Everythingpro.in में स्वागत है | तो चलिए इस Communication meaning in hindi को सरल भाषा में समझाने का प्रयास करते है |

Communication – संचार , सूचना आदि

Pronunciation – कम्युनकेशन  

Communication meaning in hindi (Noun) –

  • संचार
  • सूचना
  • सम्पर्क
  • समाचार
  • संदेश
  • सूचना पत्र
  • चिठ्ठी
  • संचारित
  • संचारण
  • संचार व्यवस्था
  • सम्बन्ध
  • बात – चीत
  • खबर

what is communication ? ( कम्युनकेशन क्या है ?) –

कम्युनकेशन एक अंग्रेजी शब्द है | जिसका मुख्य अर्थ है – बात चीत करना या सूचनाओ का आदानप्रदान करना |

Definition of communication ( कम्युनकेशन की परिभाषा ) –

किसी समूह , स्थान या व्यक्ति के द्वारा दूसरे स्थान तक सूचनाओ के आदान – प्रदान की प्रक्रिया को संचार या कम्युनकेशन कहते है |

Communication meaning in hindi

कम्युनकेशन मुख्य रूप से एक व्यक्ति , समूह या स्थान तक जानकारी का स्थांतरण का कार्य है |

इस स्थांतरण प्रक्रिया में एक प्रेषक , एक संदेश और एक प्राप्तकर्ता मुख्य भूमिका निभाते है |

इस  कम्युनकेशन (Communication meaning in hindi) को यदि और सरल भाषा में समझाने का प्रयास करते है |

यदि हम प्राचीन समय की बात करे | तो पहले अपनी बात या संदेश पहुचाने में बेहद ही अधिक समय लगता था |

आपने टीवी सीरियलों में देखा होगा यदि एक राजा को , अन्य किसी राज्य के राजा को संदेश पहुचाना होता था | तो वो अपने सेनिक के द्वारा अपना संदेश पहुचाते थे |

वर्तमान में इस प्रक्रिया को ही हम संचार या कम्युनकेशन के नाम से जानते है |जिसमे एक राजा (प्रेषक) , सेनिक (संदेश) व अन्य राज्य का राजा (प्राप्तकर्ता) होता है |

वर्तमान में यह सभी समस्याओ को दूर किया जा चूका है | यह कम्युनकेशन शब्द देखने व पढ़ने में बेहद ही मामूली सा दीखता है |

पर वास्तविकता में यह देखा जाये तो यह कम्युनकेशन एक विशाल विषय है | जिसको हम शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकते |

Communication in hindi meaning –

कम्युनकेशन को सूचना प्रोघोगिकी (Information technology) ने बेहद ही सरल व सुलभ बना दिया है |

जहाँ हम इन्टरनेट के माध्यम से अपने संदेश को दुनिया में किसी भी व्यक्ति या स्थान पर कुछ ही पलों में पहुचा सकते है |

जैसा कि आप लोगो को ऊपर दिए प्राचीन समय के उदहारण से समझाने का प्रयास किया | कि पहले साधन के अभाव से कितनी समस्या व समय लगता था | यदि समय की बात करे तो एक संदेश के आदानप्रदान में 4 से 6 महा लग जाते थे |

यदि वर्तमान की बात करे तो सिर्फ कुछ सेकंड यह वाकई काबिले तारीफ़ की बात है | जिस पर हमे अपनी विज्ञान व वैज्ञानिक , इंजिनियर का धन्यवाद करना चाहिए |

Types of Communication ( कम्युनकेशन के प्रकार )

अब हमसमझ लेते है कि मुख्य रूप से कम्युनकेशन को  कितने प्रकारों से देखा जा सकता है | मुख्य रूप से तीन  प्रकार की कम्युनकेशन होती है |

  1. Interpersonal Communication
  2. Group Communication
  3. Mass Communication

Interpersonal Communication –

इस प्रकार के संचार में सदैव दो लोगो से आमने – सामने सम्पर्क होता है | जिसको Interpersonal Communication कहते है |

यह कम्युनकेशन संदेश , चित्र , शब्द किसी भी रूप में हो सकता है | जिसमे आमने सामने 2 व्यक्ति के बीच सीधे सम्पर्क होता है |

Group Communication

इस कम्युनकेशन के नाम से ही पता चलता है | जब 2 व्यक्ति से अधिक लोग किसी एक विषय पर अपनी – अपनी प्रतिक्रिया रखते है | तो ऐसे कम्युनकेशन को समूह संचार या Group Communication के नाम से जानते है |

Mass Communication

कम्युनकेशन शब्द को यदि सबसे अधिक महत्व मिलता है | तो उसका मुख्य व सबसे अधिक महत्वपूर्ण Mass Communication है |

Mass Communication को जन – संचार के नाम से जानते है | यह समूह संचार से बड़ा  स्थरहोता है |

जिसका मतलब किसी भी सूचना को जनता तक , संचार के माध्यम से पहुचाना होता है |

क्योकि यहा सूचनाओ को संचार के माध्यम से जनता तक पहुचाई जाती है | इस लिए इसे जन – संचार या Mass Communication कहते है |

Types of communication in technology ( टेक्नोलॉजी में कम्युनकेशन के प्रकार) –

अब हम आपको समझाने का प्रयास करते है कि टेक्नोलॉजी में भी संचार के अनेक प्रकार है | तो चलिए समझने का प्रयास करते है |

टेक्नोलॉजी में भी तीन वर्गों में इस कम्युनकेशन को बांटा गया है |

  1.  Simplex (सिम्पलेक्स)
  2. Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स)
  3. Full Duplex (फुल डुप्लेक्स)

Simplex

इस टेक्नोलॉजी में प्रेषक (sender) डाटा या सूचना को सिर्फ भेज सकता है | और प्राप्तकर्ता (Receiver) डाटा या सूचना को सिर्फ ग्रहण कर सकता है |

यानि इस Simplex (सिम्पलेक्स) टेक्नोलॉजी में सूचना को  एक ही तरफ से भेजा जा सकता है और दूसरा सिर्फ प्राप्त कर सकता है |

Simplex example –

keyboard और monitor( कीबोर्ड में डाटा को लिखा, जो कि मॉनिटर पर दिखाई देता है यानि संदेश भेजा व प्राप्त किया जा रहा है )

Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स) –

इस Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स) टेक्नोलॉजी में प्रेषक और रिसीवर दोनों के बीच सूचना का आदान – प्रदान होता है | परन्तु एक ही समय में दोनों एक साथ संचार नहीं कर सकते |

Half Duplex example –

walkie – talkies , two computer etc

Full Duplex (फुल डुप्लेक्स) –

इसFull Duplex (फुल डुप्लेक्स) टेक्नोलॉजी में एक ही समय पर प्रेषक (Sender) और प्राप्तकर्ता (Receiver) , दोनों का एक ही समय में सूचना का आदान – प्रदान होता है |

Full Duplex example –

मोबाइल फ़ोन ( Mobile phone) जिसमे सुचना का एक ही समय में आदान – प्रदान होता है |

Conclusion –

उम्मीद करते है आपसे कि यह आर्टिकल Communication meaning in hindi  आपको जरुर पसंद आया होगा |

यदि इस आर्टिकल से रिलेटेड आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरुर दे |

इस जानकारी को अपने दोस्तों तक जरुर साँझा करे | ऐसे ही महत्वपूर्ण व कुछ अच्छा व बेहतर सीख के लिए नीचे दिए join telegram या बेल आइकॉन से जुड़े |

अपना कीमती वक़्त देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद | आपका दिन शुभ व मंगल हो |

Please share your friends

Leave a Comment

poco f4 Review, Specification , Price realme gt neo 3t Specification , Price micromax in note 1 Review, Specification , Price samsung a12 Review, Specification , Price