Communication meaning in hindi –

यदि आप Communication meaning in hindi को सर्च कर रहे है | और आपको इस Communication meaning के बारे में विस्तार से जानना है | तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरुर पढ़े |

नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर Everythingpro.in में स्वागत है | तो चलिए इस Communication meaning in hindi को सरल भाषा में समझाने का प्रयास करते है |

Communication – संचार , सूचना आदि

Pronunciation – कम्युनकेशन  

Communication meaning in hindi (Noun) –

  • संचार
  • सूचना
  • सम्पर्क
  • समाचार
  • संदेश
  • सूचना पत्र
  • चिठ्ठी
  • संचारित
  • संचारण
  • संचार व्यवस्था
  • सम्बन्ध
  • बात – चीत
  • खबर

what is communication ? ( कम्युनकेशन क्या है ?) –

कम्युनकेशन एक अंग्रेजी शब्द है | जिसका मुख्य अर्थ है – बात चीत करना या सूचनाओ का आदानप्रदान करना |

Definition of communication ( कम्युनकेशन की परिभाषा ) –

किसी समूह , स्थान या व्यक्ति के द्वारा दूसरे स्थान तक सूचनाओ के आदान – प्रदान की प्रक्रिया को संचार या कम्युनकेशन कहते है |

Communication meaning in hindi

कम्युनकेशन मुख्य रूप से एक व्यक्ति , समूह या स्थान तक जानकारी का स्थांतरण का कार्य है |

इस स्थांतरण प्रक्रिया में एक प्रेषक , एक संदेश और एक प्राप्तकर्ता मुख्य भूमिका निभाते है |

इस  कम्युनकेशन (Communication meaning in hindi) को यदि और सरल भाषा में समझाने का प्रयास करते है |

यदि हम प्राचीन समय की बात करे | तो पहले अपनी बात या संदेश पहुचाने में बेहद ही अधिक समय लगता था |

आपने टीवी सीरियलों में देखा होगा यदि एक राजा को , अन्य किसी राज्य के राजा को संदेश पहुचाना होता था | तो वो अपने सेनिक के द्वारा अपना संदेश पहुचाते थे |

वर्तमान में इस प्रक्रिया को ही हम संचार या कम्युनकेशन के नाम से जानते है |जिसमे एक राजा (प्रेषक) , सेनिक (संदेश) व अन्य राज्य का राजा (प्राप्तकर्ता) होता है |

वर्तमान में यह सभी समस्याओ को दूर किया जा चूका है | यह कम्युनकेशन शब्द देखने व पढ़ने में बेहद ही मामूली सा दीखता है |

पर वास्तविकता में यह देखा जाये तो यह कम्युनकेशन एक विशाल विषय है | जिसको हम शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकते |

Communication in hindi meaning –

कम्युनकेशन को सूचना प्रोघोगिकी (Information technology) ने बेहद ही सरल व सुलभ बना दिया है |

जहाँ हम इन्टरनेट के माध्यम से अपने संदेश को दुनिया में किसी भी व्यक्ति या स्थान पर कुछ ही पलों में पहुचा सकते है |

जैसा कि आप लोगो को ऊपर दिए प्राचीन समय के उदहारण से समझाने का प्रयास किया | कि पहले साधन के अभाव से कितनी समस्या व समय लगता था | यदि समय की बात करे तो एक संदेश के आदानप्रदान में 4 से 6 महा लग जाते थे |

यदि वर्तमान की बात करे तो सिर्फ कुछ सेकंड यह वाकई काबिले तारीफ़ की बात है | जिस पर हमे अपनी विज्ञान व वैज्ञानिक , इंजिनियर का धन्यवाद करना चाहिए |

Types of Communication ( कम्युनकेशन के प्रकार )

अब हमसमझ लेते है कि मुख्य रूप से कम्युनकेशन को  कितने प्रकारों से देखा जा सकता है | मुख्य रूप से तीन  प्रकार की कम्युनकेशन होती है |

  1. Interpersonal Communication
  2. Group Communication
  3. Mass Communication

Interpersonal Communication –

इस प्रकार के संचार में सदैव दो लोगो से आमने – सामने सम्पर्क होता है | जिसको Interpersonal Communication कहते है |

यह कम्युनकेशन संदेश , चित्र , शब्द किसी भी रूप में हो सकता है | जिसमे आमने सामने 2 व्यक्ति के बीच सीधे सम्पर्क होता है |

Group Communication

इस कम्युनकेशन के नाम से ही पता चलता है | जब 2 व्यक्ति से अधिक लोग किसी एक विषय पर अपनी – अपनी प्रतिक्रिया रखते है | तो ऐसे कम्युनकेशन को समूह संचार या Group Communication के नाम से जानते है |

Mass Communication

कम्युनकेशन शब्द को यदि सबसे अधिक महत्व मिलता है | तो उसका मुख्य व सबसे अधिक महत्वपूर्ण Mass Communication है |

Mass Communication को जन – संचार के नाम से जानते है | यह समूह संचार से बड़ा  स्थरहोता है |

जिसका मतलब किसी भी सूचना को जनता तक , संचार के माध्यम से पहुचाना होता है |

क्योकि यहा सूचनाओ को संचार के माध्यम से जनता तक पहुचाई जाती है | इस लिए इसे जन – संचार या Mass Communication कहते है |

Types of communication in technology ( टेक्नोलॉजी में कम्युनकेशन के प्रकार) –

अब हम आपको समझाने का प्रयास करते है कि टेक्नोलॉजी में भी संचार के अनेक प्रकार है | तो चलिए समझने का प्रयास करते है |

टेक्नोलॉजी में भी तीन वर्गों में इस कम्युनकेशन को बांटा गया है |

  1.  Simplex (सिम्पलेक्स)
  2. Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स)
  3. Full Duplex (फुल डुप्लेक्स)

Simplex

इस टेक्नोलॉजी में प्रेषक (sender) डाटा या सूचना को सिर्फ भेज सकता है | और प्राप्तकर्ता (Receiver) डाटा या सूचना को सिर्फ ग्रहण कर सकता है |

यानि इस Simplex (सिम्पलेक्स) टेक्नोलॉजी में सूचना को  एक ही तरफ से भेजा जा सकता है और दूसरा सिर्फ प्राप्त कर सकता है |

Simplex example –

keyboard और monitor( कीबोर्ड में डाटा को लिखा, जो कि मॉनिटर पर दिखाई देता है यानि संदेश भेजा व प्राप्त किया जा रहा है )

Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स) –

इस Half Duplex (हाफ डुप्लेक्स) टेक्नोलॉजी में प्रेषक और रिसीवर दोनों के बीच सूचना का आदान – प्रदान होता है | परन्तु एक ही समय में दोनों एक साथ संचार नहीं कर सकते |

Half Duplex example –

walkie – talkies , two computer etc

Full Duplex (फुल डुप्लेक्स) –

इसFull Duplex (फुल डुप्लेक्स) टेक्नोलॉजी में एक ही समय पर प्रेषक (Sender) और प्राप्तकर्ता (Receiver) , दोनों का एक ही समय में सूचना का आदान – प्रदान होता है |

Full Duplex example –

मोबाइल फ़ोन ( Mobile phone) जिसमे सुचना का एक ही समय में आदान – प्रदान होता है |

Conclusion –

उम्मीद करते है आपसे कि यह आर्टिकल Communication meaning in hindi  आपको जरुर पसंद आया होगा |

यदि इस आर्टिकल से रिलेटेड आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरुर दे |

इस जानकारी को अपने दोस्तों तक जरुर साँझा करे | ऐसे ही महत्वपूर्ण व कुछ अच्छा व बेहतर सीख के लिए नीचे दिए join telegram या बेल आइकॉन से जुड़े |

अपना कीमती वक़्त देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद | आपका दिन शुभ व मंगल हो |

Please share your friends

Leave a Comment

दिशा पटानी के बोल्ड अवतार को देखकर हो जायंगे मदहोश नुसरत बरुच्चा ने रेड साड़ी में लगाया हॉटनेस का तड़का सुषमा अधिकारी ने उड़ा दिए सबके होश भोजपुरी इंडस्ट्री की यह 7 एक्ट्रेस है सबसे बोल्ड