क्या असमानता होती है रात को जल्दी या देर से सोने वालो की-

आज यह article बहुत ही अधिक interested होने वाला है | और यह article हर उम्र के व्यक्ति के लिए है | इस article के माध्यम से हम जानने की कोशिश करेंगे की क्या फर्क होता है उन व्यक्तिओ में जो रात को देर में सोते है या जल्दी | आप सभी का एक बार फिर Everythingpro.in के My Thinking  में स्वागत है |

देर रात में सोने पर और देर से जागने वाले लोगो को काफी आलसी और लापरवाह माना जाता है | अक्सर अपने बुजर्गो व किताबो से सुना होगा कि रात को जल्दी सो कर जल्दी जागना चाहिए | पर मेरे रिसर्च करने पर मुझे यह मालूम हुआ कि विज्ञान यह कहता है कि जल्दी सोने वाले लोगो की अपेक्षा देर रात से सोने वालो की  बौद्धिक क्षमता (crativity power) अधिक बेहतर होती है |

आप सब confused हो रहे होंगे कि किताबे कुछ और कहती है और विज्ञान कुछ और तो आखिर में किस की बात मानी जाये | तो आप सब परेशान न में इस article के माध्यम से अपने विचारो को लेकर यह बताने का प्रयास करूंगा कि जल्दी सोने वाले लोग और देर से सोने वाले लोगो को दिमाग किस प्रकार काम करता है |

जो व्यक्ति रात को जल्दी सोते है-

हम सबसे पहले बात कर लेते है जो व्यक्ति जल्दी सोते है और सुबह जल्दी ही जागते है | हम से छोटे से बड़े होने तक हमारे बुजर्गो से हमने यह ही सुना है कि हमे रात में जल्दी सो कर, और सुबह सूर्य के उदय होने से पहले ही हमे जाग जाना चाहिए | ताकि हम अपने दिन की शुरुआत जल्दी कर सके |

ऐसा कहा जाता है कि सुबह 4 से 5 बजे का जो समय होता है इस समय को दिन का सबसे अच्छा समय माना जाता है और यहा तक भी कहा जाता है कि इस समय में हम जो भी विचार करते है वो हमे अपने जीवन में अवश्य मिलता है |

जो व्यक्ति रात को जल्दी सोता है और सुबह जल्दी जगता है तो यह आदत इन्सान को स्वाथ्य व सुंदर बनती है | जल्दी सो कर जागने वाले लोग सूरज की नेचुरल लाइट में एक्टिव व फुरतीले होते है | एक सर्वे में व वैज्ञानिक तोर पर यह माना गया है कि जो लोग जल्दी जागते है और वो सुबह की ताजी हवा लेते है तो उनका शरीर और लोगो की अपेक्षा स्वाथ्य व फुर्तीला होता है |

जल्दी सो कर जागने वाले लोग अपने दिन की शुरुआत जल्दी कर देते है | एक सर्वे में यह भी पता लगया गया है की इन्सान का दिमाग सुबह सबसे अधिक अच्छा काम करता है | और दिमाग सुबह प्लानिंग करता है इच्छा शक्ति बनाता है | और यह इच्छा शक्ति ही है जो हमे बड़े से बड़े मुकाम तक पहुचने तक प्रेरित करती है |

तो इस तरह जल्दी सो कर सुबह जल्दी जागना हमारे लिए किसी भी तरह से ख़राब तो नहीं है | वल्कि जरुरी है कि हम जल्दी सुबह जागे व अपने दिन की शुरुआत जल्दी करे | पर शुरुआत में हमने बोला कि जल्दी सोने वाले लोगो की अपेक्षा देर रात से सोने वालो की  बौद्धिक क्षमता (crativity power) अधिक बेहतर होती है |

ऐसे में दोनों काम एक साथ नहीं हो सकते | क्योकि जो इन्सान देर से सोने पर जल्दी जागेगा तो उसका हर हाल में तकलीफ ही होगी | क्योकि किसी भी कार्य को करने के लिए हमारी नींद पूरी होनी चाहिए | अब बात कर लेते है देर से सोने वालो की |

यह भी पढ़े :

देर से सोने वाले लोग-

देर से सोने वाले लोग समाज में थोडा सा तालमेल नहीं बना पाते | ऐसा इस लिए क्योकि जब यदि कोई इन्सान देर से सो रहा होगा तो वो देर से ही जागेगा | और देर से 10-11 बजे तक जगता है तो इतने में कई लोग अपना आधा काम कर लेते है |

जैसे ऑफिस जाने वाले लोग अपने दिन की शुरुआत कर लेते है और काम करना शुरू कर देते है | और दूसरी तरफ बच्चे अपने स्कूल का समय आधा दिन पूरा कर लेते है और जहा महिलाये भी अपना आधा काम कर लेती है | यानि समाज पूरी तरह से एक्टिव हो जाता है |

जो लोग देर रात में सोते है उनके दिमाग में creativity अधिक होती है क्योकि वो लोग भीड़ से अलग हटकर , चीजो को अच्छे से देखते और पढ़ते है | और रात में वो शांत होकर अपने जीवन का निर्णय लेते है |

क्योकि देर से सोने वाले लोगो का दिमाग अलग तरेह से काम करना शुरू कर देता है | जहा वो बुरे से बुरे वक़्त के लिए पहले से ही तैयार रहते है | इसी लिये वो उन चीजो को पहले से ही सोंच पाते है जो वाकी लोग नहीं सोंच पाते |

जितने भी बड़े आर्टिस्ट लोग है वो देर रात से सोते है ताकि उनके दिमाग में रात में एक बेहतर आईडिया आ सके | और वो उन पर काम कर सके | क्योकि उन्हें यह चिंता नहीं होती की उन्हें दुनिया की रेस में दोड़ना है | क्योकि उन्हें अपना मुकाम खुद बनाना होता है |

 इसलिए वो देर से सोने में अपने सपनो को पूरा करने में लग जाते है | देर से सोने वालो का finances status तो सही रहता है पर थोडा सा स्वाथ्य बिगड़ा होता है | इसी कारण देर से सोने वाले लोग शाररिक तोर पर इतने मजबूत नहीं होते जितने सुबह जल्दी जागने वाले लोग होते है |

हम आपसे बस इतना ही कहेंगे कि आप देर से सोये या जल्दी पर हमारी नींद कम से कम 6 घंटे जरुर होनी चाहिए | जिससे हम अपनी मंजिल को पूरे जोश से पा सके |

उम्मीद करते है यह article आपको पसंद आया होगा | आप कमेन्ट बॉक्स में जरुर बताये कि आप देर से सोते है या जल्दी और आपका लक्ष्य क्या है अपने जीवन में | हमसे जुड़ने के लिये | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

Leave a Comment