अशिक्षित 10वी फ़ैल संतरा बेचने वाले का 600 करोड़ तक का सफर जरुर पढ़े-

जब एक इन्सान ऑटो रिक्शा चलाने वाला , रेलवे स्टेशन पर संतरे बेचने वाला , कार धोने वाला , एक अशिक्षित 10वी फेल करोड़ो की कम्पनी खड़ी कर के सफल हो सकता है | तो इस दुनिया में सब कुछ संभव है |

आज में जिस व्यक्ति के बारे में बताने जा रहा हूँ | इनकी मेहनत व विश्वास की सफलता से आप बहुत अधिक मोटिवेट होंगे | आप सभी का एक बार फिर everythingpro.in के success story in hindi में स्वागत है | चलिए शुरू करते है-

आज हम जिस शक्स की बात कर रहे है उनका नाम है प्यारे खान , जिनकी कहानी नागपुर के एक गरीब बस्ती से शुरू होती है | घर की ऐसी स्थिति नही थी कि वो अपनी पढाई को पूरा करते | प्यारे खान अपना व परिवार का हरण पोषण, 2001 तक  छोटे छोटे काम कर के जैसे रिक्शा चलाना , रेलवे स्टेशन पर संतरे बेच कर अपना गुजारा करते |

कुछ बड़ा करने के जोश में निकल पड़े नयी राह पर-

प्यारे खान (Pyare khan) ने अपने आप से पूछा क्या वो इस तरह से ही अपनी जिंदगी काटना चाहते है या कुछ बड़ा करना है | और उनके दिल और दिमाग ने कुछ बड़ा करने का विचार आया | पर समस्या यह थी कि उनके पास थोड़े भी पैसे नहीं थे | तो वो आखिर कैसे शुरुआत करते |

रिश्तेदारों से मागी मदद-

प्यारे खान कुछ बड़ा करना चाहते थे | जिसके लिए उन्हें पैसो की जरुरत थी | वो अपने किसी खास रिश्तेदार के पास गये और उनसे 50 हज़ार रूपए मागने की बात कही | रिश्तेदार ने बोला की आप अपने घर के कागज ले कर आये | हम आपको 50 हज़ार रूपए देंगे | यह बात प्यारे खान को चुब गयी थी |

उस दिन प्यारे खान ने अपने आप से बोला की यदि रिश्तेदारी किसी के साथ करूंगा तो वो बैंक के साथ सिर्फ | प्यारे खान बैंक से उम्मीद करने लगे और वो बैंक से लोन के लिए apply करने लगे | पर गरीबो को कोई भी बैंक लोंन नही देती | ऐसा प्यारे खान के साथ भी हुआ | हर बैंक से उन्हें निराशा हाथ लगी |

सपनो को मिली थोड़ी उड़ान-

हर जगह से निराश हो जाने के बाद | 2004 में एक पहला ऐसा बैंक मिला जिसने एक गरीब को लोंन देने के लिए मंजूरी दी | और उस बैंक से प्यारे खान को 11 लाख रुपय का लोंन मिला | और इस 11 लाख रुपय से प्यारे खान की मंजिले शुरू होती है | 2004 में ही प्यारे लाल ने ट्रांसपोर्ट बिज़नस करने का विचार किया | और उन्होंने 11 लाख रुपय की मदद से पहला ट्रक खरीदा | जिससे एक मंजिल की ओर कुछ कदम बढे |

जिन्दगी ने लिया इम्तहान-

ट्रक लेने के बाद प्यारे खान की जिंदगी रास्ते पर आना शुरू हुई थी | कि सिर्फ 6 महीने बाद ही ट्रिक का एक बहुत बड़ा एक्सीडेंट हो गया | जिससे उनके सभी पैसे बर्बाद हो गये | लोगो ने दुनिया ने बोला कि तुम बर्बाद हो गये हो | तुम इस धंदे से दूर हो जाओ यह बिज़नस तुम्हारे लिए नहीं है | और न जाने क्या क्या अनगिनत बाते |

प्यारे खान के अंदर एक जुनून ,एक विश्वास ने उन्हें एक बार फिर कोशिश करने के लिए बोला | प्यारे खान ने उस ट्रक को वापिस नागपुर लाये, ड्राईवर को  ठीक करवाया | और कुछ महीने बाद अपनी मंजिल की ओर बढ़ चले |

सपनों में लगने लगे पंख-

एक बार फिर अपनी मंजिल की और बढ़ने लगे उतने ही विश्वास और जोश के दम पर | धीरे-धीरे समय बीतता गया | पैसे आना शुरू हो गये | पैसे आने के बाद प्यारे खान ने रिस्क वाले काम शुरू करना शुरू कर दिया | देश में ट्रांसपोर्ट बिज़नस में प्यारे खान का नाम लोगो के सामने आना शुरू हो गया |

तब ही एक किस्सा ऐसा हुआ कि भूटान देश में कुछ सामान लाना था | जो बहुत ही चुनोतिपूर्ण था | देश के सबी ट्रांसपोर्ट मालिको ने यह काम करने को मना कर दिया | क्योकि था ऐसा भूटान बॉर्डर का गेट 13.50 फूट का गेट था | और जो सामान ले जाना था उसकी लम्बाई थी 17 फूट |

यह बहुत चुनोतिपूर्ण काम था जो की प्यारे खान ने अपने दिमाग से पूरा कर दिखाया | प्यारे खान पर सिर्फ 24 घंटे का समय भूटान सरकार ने दिया | प्यारे खान ने भूटान गेट से पहले रास्ते को जमीन से 4 फूट नीचे खुदवाई करी और भूटान के अंदर वो सामान प्रवेश कराया |

जिससे उनको बहुत बड़ी रकम मिली | और देखते देखते प्यारे खान ने एक ट्रिक से 2 ट्रिक लिये |, 2 से 4 , 4 से 10 और 10 से 25 , और आपको हेरानी होगी 25 से 250 ट्रक लेकर देश के बड़े ट्रांसपोर्ट कम्पनी खोल डाली |

किसी भी बिज़नस को सफल बनाने के लिए तीन मुख्य बाते-

  1. आपको अपने बिज़नस को सफल बनाने के लिए उसके लिए प्रॉपर फण्ड होना चाहिए |
  2. आपके बिज़नस की एक अच्छी सर्विस
  3. आपके अंदर विश्वास |

प्यारे खान की लगन, विश्वास और उनके काम की एक अच्छी सर्विस ने पहले छोटी छोटी कम्पनी ने 10 लाख से 50 लाख का काम दिया | और उनकी अच्छी सर्विस देते देते व विश्वास व समय देते देते | 50 लाख से 1 करोड़ पर पहुचा , एक करोड़ से 10 करोड़ और 10 से 100 , और 100 से 600 करोड़ तक का business आज वो वर्तमान में कर रहे है |

हमने आज इस article से क्या सीखा-

वाकई यह जमीन से आसमान का सफर बहुत ही प्रेणना देने वाला है | हमने आज इस article के माध्यम से 2 बाते सीखी-

1-भविष्य में टूट जाने के बाद सिर्फ एक बार कोशिश जरुर करनी चाहिए | क्या पता वो आपकी आखिरी कोशिश हो |

2-सफल बनने के लिए जरुरी नहीं कि शिक्षा का होना जरुरी ही है | व शर्त है की आपकी मेहनत और लगन पर विश्वास होना चाहिए |

उम्मीद करता हु यह article आपको आपके लक्ष्य की और प्रेरित करेगा | ऐसे ही मोटिवेट और interested article के लिए हमसे जुड़े रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

सफलता का मन्त्र :

  • अपने लक्ष्य की सम्पूर्ण जानकारी का होना |
  • हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिये कड़ी मेहनत करते रहे |
  • सबसे जरुरी बात , खुद अपनी क़ाबलियत पर विश्वास रखे |
  • कभी भी निराश न हो |
  • अगर आप गलतियाँ कर रहे है , तो निराश बिल्कुल न हो , वल्कि ख़ुशी मनाये की आप कुछ नया जरुर सीख रहे है |
  • जो व्यक्ति कहता है , उसने अपने जीवन में कुछ गलतियाँ नहीं की , यकीन माने उसने अपने जीवन में कुछ नया नहीं सीखा |

हमेशा ध्यान रखे , उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता है | हमसे अपनी समस्या व उलझाने साँझा करे | हम हर संभव मदद आपकी करेंगे |

आपके उज्जवल भविष्य के लिये हमारी टीम Everythingpro.in की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएँ….

2 thoughts on “अशिक्षित 10वी फ़ैल संतरा बेचने वाले का 600 करोड़ तक का सफर जरुर पढ़े-”

Leave a Comment