यदि आप online payment करते है तो ध्यान दे इन बातो पर-

मोबाइल एप के माध्यम से पैसो के transaction में काफी से तेजी आई है परन्तु एंड्राइड स्मार्टफोन यूजर पर खतरनाक मैलवेयर अटैक का खतरा हमेशा बना रहता है | जरा सी लापरवाही यूजर पर भारी पड़ सकती है |

वैसे भी, अब एक पुराना खतरनाक एंड्राइड मैलवेयर नए update के साथ वापिस आ गया है | यह भी यूजर की बैंकिंग और पर्सनल इनफार्मेशन पर अटेक करता है |

हम सब जानते है की mobile एप के माध्यम से पैसों का transaction करना काफी सरल है अगर आप को थोड़ी सी भी तकनिकी जानकारी है तो आप बहुत आसान तरीके से पैसो का लेन देन कर सकते है |

इसी वजह से digital payment तेजी से लोकप्रिय हो रहा है | एसएनडीपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के अनुसार , mobile transaction में वर्ष 2019 में 163% तक बढ़त हुई है , वैसे कोरोना की वजह से भी लोग आजकल online transaction को अधिक अपना रहे है ताकि इन्फेक्शन से बचा जा सके लेकिन यहा सबसे बड़ा मामला इस transaction की सिक्योरिटी पर है |

online payment स्कैम से जुड़े मामले सामने आते ही रहते है | एक ताजा घटना में ठगों ने kyc के नाम से पुणे की एक महिला से 14 लाख रूपए ठग लिए थे | ठगी की बढती घटनाओ को देखते हुए सीईआरटी-आइएन ( इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पोंसे ) टीम ने भी फिशिंग अटेक को लेकर चेतावनी जारी की है |

फिशिंग स्कैम को लेकर रहे सावधान-

सीईआरटी-आइएन ने फिशिंग अटेक को लेकर चेतावनी जारी की है | इन दिनों कोरोना वाइरस के नाम पर लुभावने ईमेल के माध्यम से यूजर को जाल में फ़साने की कोशिश होती है | इस लिए हम  यूजर को सलाह देते   है कि वह अनजाने या फिर लुभावने तरीके से आये हुए  ईमेल एड्रेस को जो ऑफर प्रदान करते है या कोई लालच देते है |

उन ईमेल एड्रेस को open करने में सावधान रहे यदि आपको लगता है कि यह ईमेल fack हो सकता है तो उस ईमेल को open न करे | ठगी करने वाले इस तरह से ईमेल को तैयार करते है कि आम यूजर को अंतर पता लगाना मुश्किल हो जाता है |

  हम आपको बताते है कि इन ईमेल एड्रेस की पहचान कैसे करे , यदि fack ईमेल एड्रेस है तो आप ध्यान दे की इस प्रकार के ईमेल एड्रेस में ग्रामर व स्पेलिंग में कुछ न कुछ गलतियां जरुर होती है | ध्यान से देखने पर इन गलतियों पर आपकी नजर पड़ जाएगी |

नेट बेकिंग को उपयोग में लेने से पहले आप यूआरएल में नजर डाल ले और देखे कि यूआरएल एड्रेस ‘https’ है या नहीं यहा s का मतलब होता है की website सिक्योर है |

यह भी पढ़े :

बेंक account को रखे प्राइवेट –

यदि आप किसी के साथ अपना account नंबर share करते है तो इस दोरान बेहद सावधानिया रखे | हर किसी के साथ अपना account नंबर को share करने से बचे | साथ ही ईमेल , massage या social media पर यदि आपसे कोई भी personal information मागता है तो हो जाए सचेत | जिस पर आपको भरोसा हो उसी के साथ share करे |

अपने पासवर्ड को करे मजबूत-

अधिकतर यूजर को पता होता है की उनका सरल पासवर्ड खतरनाक हो सकता है , फिर भी लोग उसी तरह पासवर्ड रखते है इस सरल पासवर्ड रखने का मुख्य कारण अधिकतर लोगो का यह होता है कि उन्हें पासवर्ड को यद् रखने में मदद मिलती है |

अधिकतर लोग पासवर्ड जैसे 123456789 रखते है या फिर 00000 लगा देते है इस तरह के पासवर्ड बेहद कमजोर होते है और हैकर्स इन पासवर्ड को आसानी से हैक कर लेते है | इसलिए हम आपको सलाह देते है की अपने पासवर्ड को मजबूत रखे |

पासवर्ड में स्पेशल कैरेक्टर्स को उपयोग में जरुर लाये व कुछ महीनो के बाद अपना पासवर्ड जरुर बदल ले | अपने अलग अलग account के लिए अपना अलग पासवर्ड का चुनाव करे | हम आपको सलाह देते है की आप मल्टी फेक्टर ऑथेंटिकेशन का उपयोग करे |

आप हमारी website से फेक्टर ऑथेंटिकेशन की जानकारी प्राप्त कर सकते है | आपको साथ में पिन पासवर्ड या फिंगरप्रिंट का इस्तमाल जरुर करना चाहिए |

बैंक और क्रेडिट कार्ड पर रखे हमेशा अपनी नजर –

बैंक transaction पर हमेशा रखे अपनी नजर रखनी चाहिए , चाहे वो छोटी ही राशी क्यों न हो | यदि किसी भी तरह अनेतिक गतिविधि हो रही है , तो सजग रहते हुए आप use पकड़ सकते है | यदि आपके फ़ोन पर भी कोई notification आता है तो use इग्नोर न करे |

सिक्योरिटी –

भले ही आप mobile फोन के जरिए बैंकिंग कर रहे हो या वेब के माध्यम से , यह जरुर सुनिश्चित कर ले की आपका डिवाइस एंटीवायरस से प्रोटेक्ट है या नहीं | बिना प्रोटेक्ट करने वाले डिवाइस से online transaction करना खतरनाक हो सकता है |

एप को रखे हमेशा update-

यदि आप बैंकिंग app का इस्तमाल कर रहे है तो हमेशा रखे उसे अपडेट | क्योकि update करने से कम्पनी नए फीचर्स के साथ साथ एप की सुरक्षा संबंधी खामिया भी दूर कर लेती है , ताकि एप्लीकेशन तकनीक रूप से मजबूत रहे और वाइरस व हैकर्स से सुरक्षित रहे |

एप परमिशन को करे मैनेज-

mobile फोन के लिए यह बहुत जरूरी टिप्स है | google play store से जब भी आप कोई भी एप को डाउनलोड करते है , तो आपसे परमिशन मागी जाती है | आप सब बिना सोंचे उस परमिशन को allow कर देते है |

हम आपको सलाह देते है allow करने से पहले एक बार नजर डाल ले कि वह आपसे किस प्रकार की परमिशन मांग रहा है | कई एप्लीकेशन आप से massage , मेल और एसएमएस तक की परमिशन ले लेते है , इसलिए परमिशन देने से पहले ध्यान रखे |

मैसेजिंग एप के माध्यम से न करे निजी जानकारी शेयर-

अब तक न जाने कितनी बार अपना बैंक account नंबर, आधार नंबर व एटीएम पिन और पासवर्ड को मेसेज या whatsapp के माध्यम से share किया होगा , हम आपको बता दे ऐसा करने से आप कितना बड़ा जोखिम मोल लेते है , क्योकि कई कम्पनी आपकी निजी जानकारी पढ़ती है | इसलिए निजी जानकारी मैसेजिंग एप के माध्यम से share न करे |

क्या रखे सावधानिया-

  • यूआरएल एड्रेस ‘https’ है या नहीं यहा s का मतलब होता है की website सिक्योर है |
  • यदि fack ईमेल एड्रेस है तो आप ध्यान दे की इस प्रकार के ईमेल एड्रेस में ग्रामर व स्पेलिंग में कुछ न कुछ गलतियां जरुर होती है |
  • बैंकिंग app या फिर नेट बेंकिंग का उपयोग करने के दोरान हमेशा अपना ही डाटा प्लान का use करे अन्य किसी पब्लिक wifi network को उपयोग में न लाये |

यदि आपको लगता है इस लेख में कुछ और सुधार करने की जरुरत है तो हमे comment कर के जरुर बताये हम अपने लेख में जरुर सुधार करेंगे | किसी भी प्रकार कि बात पूछने के लिए हमे comment करे |इस article को पढने के लिये व अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

Leave a Comment