मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) कैसे बनते है ? (Mechanical Engineer kaise bane)-

 मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) कैसे बनते है ? मैकेनिकल इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? मैकेनिकल इंजीनियर की salary कितनी होती है ? मैकेनिकल इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी , इस article के लास्ट तक मिल जायेगी |

इंजीनियरिंग की top ब्रांचो में से एक ब्रांच मैकेनिकल इंजीनियरिंग भी है | जिन बच्चो को मशीनों से अधिक प्रेम होता है | व मशीनों को वो अच्छे से समझना चाहते है | तो वो मैकेनिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर, बनाना पसंद करते है |

12th के बाद बच्चा व पेरेंट्स की समस्या होती है कि वो अपने बच्चे को किस क्षेत्र में जाने के लिये प्रेरित करे | और अपने रिश्तेदारों व करीबो से पूछने लग जाते है कि अब हम अपने बच्चे को किस क्षेत्र में भेजे |

हम इस article के माध्यम से , बच्चो व उनके पेरेंट्स से बोलना चाहूँगा कि किसी और से पूछने के बजह , आप अपने बच्चे से खुद पूछिए कि उसकी रूचि किस क्षेत्र में है |

जिस क्षेत्र में बच्चे की रूचि है | उस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने दे | यदि आपकी रूचि मैकेनिकल इंजीनियरिंग में है तो यह आर्टिकल आपके लिये ही है |

मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) kaise bane-

credit-pixabay

जूनियर मैकेनिकल इंजीनियर की योग्यता –

  • साइंस स्ट्रीम से 10th होना अनिवार्य |
  • आप 10th के बाद 12th भी कर सकते है |
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग से 3 वर्ष का पॉलिटेक्निक कोर्स | 

मैकेनिकल इंजीनियर की योग्यता –

  • साइंस स्ट्रीम से 12th अनिवार्य
  •  साइंस स्ट्रीम (मैथ्स , फिजिक्स और केमिस्ट्री) में 60% होना अनिवार्य | जिससे आप एंट्रेंस एग्जाम के लिये apply कर सकते है |
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग से 4 वर्ष की इंजीनियरिंग डिग्री पूर्ण करने पर |

 मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) बनने के लिये कोर्स –

यदि आपको 10th के बाद मैकेनिकल इंजीनियर बनना चाहते है तो आप पॉलिटेक्निक मैकेनिकल इंजीनियरिंग से 3 वर्ष का कोर्स कर सकते है | जिसको पूरा करने बाद आप जूनियर मैकेनिकल  इंजीनियर बन जाते है |

10+2 के बाद B.tech में अच्छे कॉलेज में प्रवेश के लिये, AIEEE (All India Engineering Entrance Examination) या IIT (Indian Institutes of Technology) के बेहतर इंजीनियरिंग कॉलेज मिलते है | जिसके लिये आपको कड़ी मेहनत करने पड़ती है | जो हर वर्ष लाखो बच्चे एंट्रेंस एग्जाम देते है |

आप स्टेट लेवल के इंजीनियरिंग कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग से अपनी इंजीनियरिंग कर के , एक प्रोफेशनल मैकेनिकल इंजिनियर बन जाते है |

यदि आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मास्टरी करना चाहते है तो आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग से ही M.tech (Master of technology) कोर्स को कर सकते है | जिससे करने के बाद आपका भविष्य और अधिक उज्जवल बन जायेगा |

Mechanical Engineering Subjects (मैकेनिकल  इंजीनियरिंग के कुछ प्रमुख सब्जेक्ट्स)-

  • Introduction of Computing  (Semeter-2nd / 1st Year)
  • Engineering Mechanics  (Semeter-2nd / 1st Year)
  • Basic Electronic Laboratory  (Semeter-2nd / 1st Year)
  • Thermodynamics  (Semeter-3nd /2ndYear)
  • Solid Mechanics  (Semeter-3nd /2ndYear)
  • Engineering Materials  (Semeter-3nd /2ndYear)
  • Fluid Mechanics  (Semeter-4th /2ndYear)
  • Manufacturing Technology  (Semeter-4th /2ndYear)
  • Kinematics of Machinery (Semeter-4th /2ndYear)
  • Design of Machine Elements  (Semeter-5th /3rdYear)
  • Electrical Machines (Semeter-5th /3rdYear)
  • Mechanical Measurements (Semeter-6th /3rdYear)
  • Control Systems  (Semeter-6th /3rdYear)
  • Applied Thermodynamics (Semeter-7th /4thYear)
  • Industrial Engineering and operation Research (Semeter-8th /4thYear)

Best Collage of Mechanical Engineering (टॉप  मैकेनिकल इंजीनियरिंग के कॉलेज)-

  • IIT Delhi (Indian Institute of Technology Delhi)
  • IIT Bombay (Indian Institute of Technology, Bombay)
  • IIT Kanpur (Indian Institute of Technology, Kanpur)
  • IIT Khargpur (Indian Institute of Technology, Khargpur)
  • IIT Roorkee ((Indian Institute of Technology, Roorkee)
  • IIT Guwahati (Indian Institute of Technology, Guwahti)
  • IIT Hyderabad (Indian Institute of Technology, Hyderabad)
  • IIT Indore (Indian Institute of Technology, Indore)
  • IIT (BHU) Varanasi (Indian Institute of Technology, Varansi)

मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या होती है ? (What is Mechanical Engineering in Hindi)-

मैकेनिकल शब्द से ही ज्ञात हो जाता है कि हम इस मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मशीनरी के मैकेनिकल सिस्टम के बारे में पढ़ते है |  मैकेनिकल इंजीनियरिंग को अगर बहुत सिंपल शब्दों में डिफाइन करू |

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में हम मशीन का मैकेनिकल सिस्टम ,टूल्स की डिज़ाइन व प्रोडक्शन , मैकेनिकल पॉवर का उत्पादन आदि के बारे में पढ़ते है |

यदि आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाना चाहते है | तो जरुरी है कि आपको को इन  मैकेनिकल कांसेप्ट जैसे – Mechanics , Thermodynamics, Solid Mechanics , Kinematics of machinery , Design machinery system, Mechanical Measurement , Control system, Industrial Engineering etc की अच्छे से जानकारी हो |

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के जॉब सेक्टर (Job sector for  Mechanical Engineering) –

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद , एक मैकेनिकल इंजिनियर की प्राइवेट या गवर्नमेंट सेक्टर, हर प्रोडक्शन प्लांट , थर्मल प्लांट आदि इंजीनियरिंग के हर क्षेत्र में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की आवश्यकता जरुर पड़ती है |

इसी कारण से सदियों से व आने वाले समय में भी  मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिमांड हमेशा ही रहती है | इसी लिये अधिकतर तकनिकी प्रेमी अपना भविष्य इस मैकेनिकल इंजिनियर (Mechanical Engineer)  में खोजते है |  

Mechanical Engineering Job opportunity in Goverment sector –

वैसे तो हर इंजीनियरिंग क्षेत्र में मैकेनिकल इंजीनियर की जरूरत होती है | पर यदि आप गवर्मेंट सेक्टर में अपना भविष्य बनाना चाहते है |

हमारे देश के जितने भी सरकारी इंजीनियरिंग के पदों की जगह निकलती है | तो उसमे सबसे अधिक पद एक मैकेनिकल इंजीनियर के ही होते है |

आप यहा से अंदाजा लगा सकते है कि एक मैकेनिकल इंजीनियर की डिमांड कितनी रहती है |

Best Government companies for Mechanical Engineering-

  • Indian Railway
  • NTPC (National Thermal Power Corporation Limted)
  • BHEL (Bharat Heavy Electricals Limted)
  • DRDO ( Defence Research and Development Organisation)
  • ISRO (Indian Space Resarch Organisation)
  • SAIL ( Steel Authirity of India)
  • IOCL (Indian Oil Corporation Limted)
  • Air Port Authority
  • Aeronautical Development Agency

Mechanical Engineering Job opportunity in Private sector –

मैकेनिकल इंजिनियर का भविष्य प्राइवेट सेक्टर में भी है | जैसा हमने बताया हर इंजीनियरिंग प्लांट में मैकेनिकल इंजीनियर की डिमांड हमेशा बनी ही रहती है |

मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिमांड न कभी भी कम हुई है और न ही कभी भी भविष्य में होगी |

Best Private Companies for Mechanical Engineering-

  • Tata Motors
  • Ashok Leyland
  • Hero MotoCrop
  • Honda Motor
  • Bajaj Auto ltd
  • Ford motor ltd
  • Maruti suzuki ltd
  • Hundai Motor india Limted
  • Mahindra Group

मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) के कुछ महत्वपूर्ण पद –

प्राइवेट हो या गवर्नमेंट दोनों ही सेक्टर के प्लांट में एक मैकेनिकल इंजीनियर का नाम बाहरी दुनिया के लिये होता है | पर प्लांट के अंदर कुछ प्रमुख पद इस प्रकार होते है –

  • Production Engineer
  • Maintinence Engineer
  • Instrumentation Engineer
  • Process Engineer
  • Quality Engineer
  • Product Designing Engineer etc .

Mechanical engineer ki sarely kitni hoti hai ( मैकेनिकल इंजीनियर को कितने रुपय मिलते है ?) –

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद दोनों ही सेक्टर में आप एक अच्छा भविष्य बना सकते है | यदि हम गवर्नमेंट सेक्टर की बात करे | तो गवर्नमेंट सेक्टर में एक शुरुआत मैकेनिकल इंजीनियर को 30 से 40 हज़ार रुपए मिलते है | जो समय के साथ साथ और अनुभव पर यह आकड़ा 1 से 1.5 लाख रुपय महीने का हो जाता है |

यदि प्राइवेट सेक्टर की बात करे | तो प्राइवेट सेक्टर में एक मैकेनिकल इंजीनियर की शुरुआत sarely 20 से 25 हज़ार रुपय होती है जो अनुभव पर लाखो तक पहुच जाती है |

यह भी पढ़े –

Conclusion-

हम उम्मीद करते है की मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) कैसे बनते है ? मैकेनिकल इंजीनियर के लिये क्या योग्यता चाहिए होती है ? मैकेनिकल इंजीनियर की salary कितनी होती है ? मैकेनिकल इंजीनियर से सम्बन्धित सभी जानकारी इस article में आपको प्राप्त हो गयी होगी |

यदि आपको लगता है कि इस article में कुछ सुधार की आवश्यकता है तो हमे comment box में जरुर बताये | यदि आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय व सवाल पूछे |

यह article आपको अच्छा लगा हो अपने मित्र व बच्चो तक जरुर शेयर करे | ऐसे ही लाभकारी व ज्ञान को बढाने वाले article पढने के लिये हम से जुड़े रहे | अपना कीमती वक़्त देने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |

Please share your friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!