*नैनीताल*

आपको शायद यह नहीं मालूम होगा कि विश्व-भर में जितने भी पर्यटन स्थल है , उन सभी में ‘सबसे झीलों वाला शहर’ भारत में ही है और वो शहर है नैनीताल |

नैनीताल का बेहद सुंदर नजारा

Note: If you access our website from another country. so tap on the menu and select your country language.

हमारे देश के सभी पर्यटन स्थलों में उत्तर-पूर्व में जो दर्जा दार्जिलिंग को प्राप्त है , वही दर्जा उत्तर के हिमालय क्षेत्र में नैनीताल को प्राप्त है |

ऊँचे –ऊँचे पहाड़ो के बीच में झील और सुंदर वादियों में अधिकतर नवयुगल हनीमून मानाने यहा आते है |

यहां के अधिकतर होटल व रिसोर्ट ऐसे है जिनसे बालकनी में खड़े हो कर नेंनी झील का खुबसूरत नजारा देखा जा सकता है | जो कि हनीमून मनाने आये नवविवाहितो को अत्यंत प्रिय होता है |

नैनी झील का स्वच्छ जल (नोका से ली गयी फोटो )

आप झील में नोका का भी आनंद ले सकते है | साथ ही नेंनी झील पर ही एक छोटा सा मार्केट हर वक़्त लगा रहता है | जहा से पर्यटक बेहद खरीददारी करते है |

झील पर ही खाने पीने के कई छोटे मोटे रेस्तरो भी है | जिनमे आप स्वादिष्ट भोजन का भी आनंद मिल जाता है |

झील की ठंडक और नवयुगलो के प्यार की गर्माहट , उनके जीवन के यादगार पलो में से एक हो जाते है | जिन्हें संझो कर वो अपने साथ केद कर के ले जाते है |

अधिकतर हनीमून मनाने आये  नवविवाहित , नैनीताल में रात में रुककर , रात में नैनी झील और भी अधिक सुंदर रूप में प्रकट होती है | जिसको देखना मानो जैसे स्वर्ग में वास हो |

गेस्टहाउस से लिया गया नैनी झील का सुंदर मनोरम द्रश्य

नैनीताल से कुछ प्रमुख नगरो से दूरी –

  • रानीखेत – 60 किलोमीटर
  • अल्मोड़ा – 67 किलोमीटर
  • बरेली – 141 किलोमीटर
  • पिथोड़गढ़ – 188 किलोमीटर
  • दिल्ली – 322 किलोमीटर 
  • लखनऊ – 401 किलोमीटर
  • कलकत्ता – 1402 किलोमीटर
  • मुंबई – 1565 किलोमीटर
  • चेन्नई – 2379 किलोमीटर

नैनीताल जाने का बेहतर समय-

नैनीताल जाने औरघुमने फिरने का उपयुक्त समय अप्रैल के प्रारंभ से जून के मध्य तक और सितंबर के मध्य से  अक्टुबर के अंत तक रहता है | वैसे – ठंड के दिनों में भी कई लोग यहा आते है | खासतोर हिमपात देखने के लिये |

नैनीताल में देखने के लिये प्रमुख स्थल-

स्नो व्यू –

नैनीताल की रोपवे का द्रश्य

नैनीताल से उत्तर की ओर 2 किलोमीटर की चढाई के बाद आप यहां पहुच सकते है | चढाई – उतराई के लिये यहा टट्टू भी उपलब्ध रहते है और रोप वे ट्राली भी |

आधिक आनंद के लिये आप टट्टू से उपर जाये और रोप वे ट्राली से नीचे आये |

7450 फूट की ऊंचाई प्रे स्थित इस स्थान से आप दूरबीन द्वारा दूर-दूर तक फेली हिममंडित पर्वत श्रंखला , रानीखेत व यहा तक की आपको रोप वे से चीन की दीवाल भी दिखाई दे जाती है |

रोप वे ट्राली से नीचे आते वक़्त नैनीताल का द्रश्य बेहद ही खुबसूरत होता है |

हनुमानगढ़ी-

नैनीताल से  हनुमानगढ़ी तक की 3 किलोमीटर की दूरी आसपास के सुंदर द्रश्य को देखते हुए भी पैदल भी तय की जा सकती है |

समुद्र तल से 1951 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस स्थान से सूर्यास्त का बेहद ही सुंदर नजारा होता है | यहा एक बहुत ही सुंदर हनुमान बाबा का मन्दिर भी है |

प्राचीन उघान –

यहां आप टेक्सी से जा सकते है और यदि आप चाहे , तो पैदल भी | यहां तरह – तरह के पक्षी देखे जा सकते है |

बारापत्थर-

बर्फ़बारी के दोरान लिया गया पिक्चर

नैनीताल से 4 किलोमीटर दूर स्थित यह स्थान पर्वतारोहियों का प्रिय स्थल है | “ हैंगिंग रॉक्स’’ खे जानेवाले यहां के पथरीले पर्वतो पर चढ़ रहे पर्वतारोहियों को देखना भी सुखद लगता है |

टिपिन टॉप –

 पिकनिक बनाने के योग्य यह जगह बहुत ही सुंदर जगह है | यह  नैनीताल से 4.5 किलोमीटर दूर स्थित है | इस शांत जगह से आसपास के विहंगम द्रश्य देखने का अलग ही आनंद है | यहा खाने के लिये कई सुंदर रेस्तरां भी मोजूद है |

नेना पिक –

नैनीताल से  किलोमीटर दूर स्थित यह जगह आसपास की 7 पर्वत – चोटियों में सबसे ऊँची है | इसे चाइना पिक से भी नाम से जाना जाता है | यदि मौसोम साफ़ है तो इस जगह से कटोरीनुमा नैनीताल और रजत मंडित सी हिमालयन श्रृंखलाएं भी देखी जा सकती है |

खुरपाताल –

नैनीताल से लघभग 9 किलोमीटर दूर यह स्थान भी काफी मनोरम है | यहां गोल्फ के कई अच्छे  मैदान है | जो देखने पर बेहद सुंदर लगते है |

सातताल –

सातताल का सुंदर द्रश्य

नैनीताल से 21 किलोमीटर दूर इस स्थान वर्षो पहले 7 झीले हुआ करती थी | अब इनमे से सिर्फ 4 ही बची है फिर भी यहा का प्राक्रतिक सोंदर्य मोजूद है |

इन झीलों के नील जल में जब यहां के आसपास खड़े हरे घने पेड़ो की परछाया पड़ती है | तब रंगों का अद्भुत मेल होता है | इन झीलों में तेहर रही नोकाएं यहां की सुन्दरता में चार चाँद लगाती है |

भीमताल-

 नैनीताल से 22 किलोमीटर दूर इस स्थान के सम्बन्ध में यह बोला जाता है कि जो यहा की विशाल झील है , उसका निर्माण महाभारत काल में हुआ था |

यह झील बेहद ही खूबसूरत है इसके बगल में एक सुंदर सा टापू है , जहां एक रेस्तरां भी मोजूद है |

इन रेस्तरां में बैठकर आप झील में तेहर रही नोकाए को देखना बेहद ही सुंदर द्रश्य होता है | व खुद नोकाएं में बैठकर घुमने का आनंद भी अलग है |

नौकुचिया ताल- 

भीमताल से 4 किलोमीटर और नैनीताल से 26 किलोमीटर दूर स्थित इस झील की वनावत अद्भुत है |

दरअसल इस झील के 9 कोने है | इस लिये इस झील को नौकुचिया ताल कहते है | जिसे देखना भी एक अलग सुखद ऐसास होता है |

इस स्थान तक के लिये नैनीताल से नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध है | यहा ठहेरने के लिये अनेक सुंदर आतिथि ग्रह व होटल मोजूद है | जहा रुक कर आप और अधिक रोमांचक महसूस करेंगे |

नैनीताल के अलावा यहां भी घुमने जाये –

 नैनीताल पहुचने के साधन-

चूँकि नैनीताल देश का एक प्रमुख पर्यटन केंद्र है , अत: यह देश के सभी प्रमुख नगरो से सड़क-मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है |

दिल्ली , चंडीगढ़ , जयपुर , लखनऊ , हरिद्वार , देहरादून , रानीखेत आदि |

यहां का निकटम रेलवे स्टेशन 35 किलोमीटर दूरी पर काठगोदाम है | जो की बेहद सुंदर रेलवे स्टेशन है |

यहा काठगोदाम पर ही देखने के लिये गोला ब्रिज है | जिसमे भी कई लोग पिकनिक व घुमने आते है |

हम उम्मीद करते है यह सफर आपको बहुत पसंद आया होगा | यदि आप इस जगह जा चुके है या फिर जाने का प्लान कर रहे है तो नीचे दिये कमेंट बॉक्स में जरुर बताये |

आप भारत में किस जगह जाना चाहते है हमे कमेंट बॉक्स में बताये | उस जगह की सम्पूर्ण जानकारी हमारी टीम 48 घंटे के अंदर article के माध्यम से पुब्लिस कर देगी |

हर नये सफर के लिये , हमारे article को पढ़ते रहे | आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद |

Please share your friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!